हृदय विदारक घटनाः झाडि़यों में मिली नवजात

हृदय विदारक घटनाः झाडि़यों में मिली नवजात

नवजात को फैंकते हुए क्या माँ को बिल्कुल भी तरस नहीं आया, नवजात को भेजा अस्पताल
मथुरा/राया। रविवार को रामलला आश्रम के पास झाडि़यों में से नवजात बच्चे की रोने की आवाज सुनकर वहाँ मॉर्निंग वॉक के लिए निकले लोगों ने झाडि़यों में देखा तो दंग रह गए। कम्बल में लिपटी एक नवजात बच्ची दिखी। सूचना पर राया पुलिस मौके पर पहुँच गई। पुलिस बच्ची को कब्जे में लेकर महिला चिकित्सालय के बच्चा वार्ड में पहंुची और भर्ती करा दिया। नवजात बच्ची की कौन सी ऐसी निर्दयी मां थी ,जो अपनी कोख से जन्मी बच्ची को इस हाल में छोड़कर चली गई। प्रतिदिन लोग मॉर्निंग वॉक पर जाते हैं ,तभी उन्हें रामलला आश्रम के समीप झाडि़यों में एक नवजात शिशु की रोने की आवाज सुनाई दी, तुरंत लोग झाडि़यों की ओर लपके तो देखा कि कम्बल में लिपटी एक नवजात बच्ची रो रही थी। लोगों ने थाना राया को इसकी सूचना दी। राया थाना प्रभारी निरीक्षक उत्तम पटेल मौके पर पहुंचे और बच्ची को कब्जे में लिया और चाइल्ड वेलफेयर को सूचना देकर बच्ची को महिला चिकित्सालय के बच्चा वार्ड में भर्ती करा दिया, बच्ची खतरे से बाहर बताई जा रही है। पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है। बड़ा सवाल यह है कि क्या बच्ची को फैंकने में उसकी माँ का दिल नहीं पसीजा, उस माँ की ममता कहाँ चली गई। उस माँ को ये भी डर नहीं कि बच्ची को जंगली जानवर भी खा सकते है।
लोगों में तरह-तरह की चर्चाऐं
बच्ची को देख वहां मौजूद व अन्य लोगांे में तरह तरह की चर्चाएं हुई, जिसके अन्तर्गत लोगों को कहते सुना गया कि बच्ची को कौन और क्यों फैंक गया? ये तो पुलिस की जांच पड़ताल में ही बाहर निकलकर सामने आयेगा, पर इतना जरूर है कि बच्ची को जंगली जानवर भी खा सकते थे, परंतु निर्दयी माँ को इसकी तनिक भी चिंता नहीं थी, इसे कैसे ममता की मूरत कह सकते है? कहाँ चली गई माँ की ममता ? बलदेव रोड स्थित आश्रम के महंत बच्ची को लेने को काफी प्रयासरत हैं, उनका प्रयास है कि बच्ची उन्हें मिल जाए तो उसका पालन पोषण करेंगे।

 474 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *