स्वास्थ्य विभाग के एमडी से बड़े हैं जनपद के एसीएमओ

स्वास्थ्य विभाग के एमडी से बड़े हैं जनपद के एसीएमओ

एमडी ने जमानत पर चल रहे दागी कुलदीप सिंह की सेवा समाप्त की, लेकिन एसीएमओ ने किया बहाल
सीएमओ ने मामले से जताई अनभिज्ञता
बुलन्दशहर। स्वा
स्थ्य विभाग में एक हैरतअंगेज कारनामा प्रकाश में आया है, जिस कुलदीप सिंह को महिला कर्मचारी से अभ्रद व्यवहार करने, गाली-गलौज और महिला उत्पीड़न करने के जुर्म में जेल की हवा खाने के चलते स्वास्थ्य विभाग के एमडी ने उसे सेवा से हटा दिया था, उसी कुलदीप सिंह को विगत दिनों जनपद के एसीएमओ डॉ० रोहताश यादव ने न केवल अपने कार्यालय में पुनः रख लिया ,बल्कि जिले भर की सीएचसी को बाकायदा लिखित आदेश जारी कर रिपोर्ट कुलदीप सिंह को भेजे जाने का फरमान भी जारी कर दिया है।
अतः इससे साफ जाहिर है कि एसीएमओ अपने विभाग के एमडी से भी कहीं ज्यादा पावरफुल है ,तभी तो एमडी के आदेश ताक पर रखकर आरोपी कुलदीप सिंह को तैनाती दे दी गई। एसीएमओ के इस आदेश पत्र के मिलने पर स्वास्थ्य कर्मचारियों में रोष व्याप्त है और महिला कर्मचारियों को अपने सम्मान की रक्षा की चिंता पुनः सताने लगी है। विदित हो कि डीसीपीएम के पद पर तैनात कुलदीप सिंह ने जुलाई ,2021 में लखावटी सीएचसी पर तैनात महिला कर्मचारी सर्विष्ठा देवी के साथ फोन पर गाली-गलौच, अश्लीलता, महिला उत्पीड़न भरा अभद्र व्यवहार किया था। महिला ने इसकी शिकायत तत्कालीन जिलाधिकारी सहित विभागीय उच्चाधिकारियों से की थी तथा औरंगाबाद थाने में आरोपी को नामजद करते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। तत्कालीन जिलाधिकारी ने मामले की गंभीरता से जांच कराकर स्वास्थ्य विभाग को सूचना भेजी थी ,जिस पर एमडी स्वास्थ्य विभाग ने आदेश जारी कर कुलदीप सिंह को जिले से हटा कर अपर निदेशक मेरठ कार्यालय से अटैच कर दिया था। औरंगाबाद पुलिस ने आरोपी कुलदीप सिंह को सितम्बर में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। जेल में 12 दिन बिताने के बाद आरोपी कुलदीप सिंह को जमानत मिली थी ,जिसके बाद से उसे स्वास्थ्य विभाग में पुनः ज्वाइन नहीं करने दिया गया था। उसी कुलदीप सिंह को एसीएमओ ने अपने कार्यालय में तैनात कर दिया और सभी सीएचसी के लिये उसी को रिपोर्ट भेजने का लिखित आदेश जारी कर दिया। इस संबंध में सीएमओ डॉ० विनय कुमार सिंह ने कुलदीप सिंह की तैनाती की जानकारी से साफ इंकार किया है और जानकारी हासिल करने की बात कही। दूसरी तरफ डॉ० रोहताश यादव ने कहा कि कोरोना के बढ़ते ग्राफ के कारण कुलदीप सिंह से काम लिया जा रहा है,हमें उसकी जरूरत थी, इसलिए उसे काम पर लगाया गया है।

 138 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *