स्वास्थ्य केन्द्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ शुरू हुई ओपीडी सेवा

स्वास्थ्य केन्द्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ शुरू हुई ओपीडी सेवा

घर से बाहर निकलने पर मास्क अनिवार्य
मास्क न पहनने वाले मरीज को नहीं दी जाएगी दवा
बुलन्दशहर।
शासन के निर्देश पर जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर ओपीडी सेवा शुरू हो गई है। जहां पर कोरोना प्रोटोकॉल के तहत मरीजों का उपचार किया जा रहा है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए तय किया गया है कि बिना मास्क पहने किसी भी मरीज को दवा नहीं दी जाएगी। इसके अलावा ओपीडी में सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखने की बात कही गई है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 भवतोष शंखधर ने बताया कि शासन के निर्देश पर जनपद में ओपीडी सेवा शुरू हुई है।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 भवतोष शंखधर ने बताया कि जिला अस्पताल सहित जनपद के समस्त स्वास्थ्य केंद्रों पर अब पोस्ट कोविड और गंभीर बीमारी के अलावा सामान्य बीमारियों का इलाज भी शुरू हो गया है। यहां पर अब मरीजों को सामान्य बीमारियों का इलाज मिल सकेगा। जिला अस्पताल के प्रभारी (सीएमएस) डॉ0 राजीव प्रसाद ने बताया कि मंगलवार को जिला अस्पताल में कुल 546 मरीज पहुंचे। सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर एडवाइजरी का पालन करते हुए ओपीडी सेवाएं शुरू की गई हैं, ताकि मरीजों की परेशानी न हो।
सीएमओ ने बताया कि जिला अस्पताल व अन्य अस्पतालों में अब सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार, सांस लेने में दिक्कत वाले मरीजों के लिए अलग से ओपीडी चलेगी। आईएलआई के लक्षण (सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार, सांस लेने में दिक्कत) वाले मरीजों के रजिस्ट्रेशन पर्चे भी अलग बनेंगे। ओपीडी सेवा शुरू करने वाले अस्पतालों में मास्क और सेनिटाइजर अनिवार्य रूप से प्रयोग करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग और सरकार की ओर से जारी गाइडलाइंस का पूरा ध्यान रखना होगा। इंफेक्शन प्रिवेंशन प्रोटोकॉल का पालन हो और परिसर के अंदर और बाहर सेनिटाइजेशन की उचित व्यवस्था होनी चाहिए।

 202 total views,  4 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *