स्वाट टीम एवं बीबीनगर पुलिस ने संयुक्त कार्यवाही कर दो 25000-25000 के पुरस्कार घोषित अभियुक्त समेत तीन किये गिरफ्तार

स्वाट टीम एवं बीबीनगर पुलिस ने संयुक्त कार्यवाही कर दो 25000-25000 के पुरस्कार घोषित अभियुक्त समेत तीन किये गिरफ्तार

अभियुक्त सौरभ ने परिजनों तथा साथियों संग षड़यन्त्र रचकर मोहित उर्फ खजूरी का अपहरण कर हत्या करने की घटना को दिया था अंजाम
अभियुक्तों से अवैध असलहा मय कारतूस एवं घटना में प्रयुक्त स्विफ्ट कार बरामद
बुलन्दशहर।
स्वाट टीम एवं बीबीनगर पुलिस ने संयुक्त कार्यवाही कर बीडीसी मोहित उर्फ खजूरी का अपहरण कर हत्या करने की घटना में संलिप्त 25,000-25,000 रुपये के दो पुरस्कार घोषित अपराधी सौरभ व निरंजन उर्फ पप्पू सहित 03 अभियुक्तों को अवैध असलहा कारतूस एवं घटना में प्रयुक्त स्विफ्ट कार सहित गिरफ्तार किया है।
बताया जाता है कि दिनांक 30.05.2021 को अशोक पुत्र महावीर निवासी ग्राम बाहपुर थाना बीबीनगर बुलन्दशहर ने थाना बीबीनगर पर प्रथम सूचना रिपोर्ट अंकित कराई थी कि दिनांक 29.05.2021 को उसके गांव का सौरभ एवं उसके परिवार के लोग तथा साथी उसके भतीजे मोहित उर्फ खजूरी पुत्र राजेन्द्र सिंहं के साथ मारपीट करते हुये जान से मारने की नीयत से षडयंत्र कर अपहरण कर ले गये है। इस घटना के संबंध में वादी की तहरीर पर थाना बीबीनगर पर मु0अ0सं0-253/2021 अन्तर्गत धारा 364,120 बी पंजीकृत किया गया था। उक्त घटना में संलिप्त एवं षडयंत्र में शामिल 05 अभियुक्तों (सौरभ के पिता-देवेन्द्र, मां-मुकेश चौधरी, पत्नी-गुडिया, साला-जीतू उर्फ जीतसिंह व प्रकाश में आये अभियुक्त सतेन्द्र उर्फ सतीश पुत्र तेजपाल निवासी ग्राम बाहपुर) को पूर्व में ही गिरफ्तार कर जेल भेजा चुका है तथा शेष अभियुक्तों की शीघ्र गिरफ्तारी एवं अपहृत मोहित उर्फ खजूरी की बरामदगी हेतु एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने एसपी सिटी सुरेन्द्रनाथ तिवारी के कुशल निर्देशन में स्वाट टीम व थाना बीबीनगर पुलिस सहित 04 टीमों को लगाया था।
बता दें कि दिनांक 07.06.2021 को प्रभारी निरीक्षक बीबीनगर योगेन्द्र सिंह मय पुलिस फोर्स के क्षेत्र में देखरेख शान्ति-व्यवस्था एवं संदिग्ध वाहन/व्यक्तियों की चैकिंग में मामूर थे कि स्वाट टीम में तैनात निरीक्षक अखिलेश कुमार गौड़ द्वारा थाना प्रभारी बीबीनगर को अवगत कराया कि उन्हें सूचना मिली है कि विगत दिनों हुए मोहित उर्फ खजूरी के अपहरण की घटना में फरार अभियुक्त सौरभ सहित चार अभियुक्त सफेद रंग की स्विफ्ट कार में घूम रहे हैं तथा कुचेसर चोपला से बीबीनगर की तरफ आने वाले है। इस सूचना पर दोनों पुलिस टीम संयुक्त रूप से कार्यवाही करते हुए कुचेसर चोपला रोड़ स्थित कटक नहर पर दोनों तरफ से आने जाने वाले वाहनों की सघनता से चैकिंग करने लगी कि कुछ देर बाद कुचेसर चोपला की तरफ से एक सफेद स्विफ्ट कार आती दिखाई दी जिसे पुलिस टीम द्वारा रुकने का इशारा किया तो गाड़ी चालक द्वारा गाड़ी को तेजी से चलाकर बीबीनगर की तरफ भागा। पुलिस टीम द्वारा स्विफ्ट कार का पीछा कुछ दूरी पर घेराबंदी कर कार को रोक लिया तथा गाड़ी में सवार अभियुक्त सौरभ, निरंजन उर्फ पप्पू व प्रकाश मे आये अभियुक्त अजय गोटी को दो अवैध तंमचें मय कारतूस सहित गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की तथा एक अभियुक्त गोविंद उर्फ गुल्लू फौजी गाड़ी से कूदकर भागने में सफल रहा, उसकी भी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे है। पूछताछ में गिरफ्तार अभियुक्तों ने अपने नाम पता सौरभ पुत्र देवेन्द्र सिंह निवासी ग्राम बाहपुर थाना बीबीनगर जनपद बुलन्दशहर, निरंजन उर्फ पप्पू पुत्र ब्रहमपाल निवासी ग्राम बाहपुर थाना बीबीनगर जनपद बुलन्दशहर एवं अजय गोटी पुत्र प्रेम निवासी आशानगर जेल चुंगी के पास थाना मेडिकल जनपद मेरठ बताया। अभियुक्तों से 02 तमंचे 315 बोर मय 03 जिन्दा कारतूस एवं घटना में प्रयुक्त स्विफ्ट वीडीआई कार नं0 यूपी-13एक्यू-0303 बरामद की गयी।
गौरतलव है कि वर्ष-2017 में अभियुक्त सौरभ मृतक मोहित उर्फ खजूरी के परिवार में हुई हत्या के मामले में जेल गया था ,तभी से सौरभ और इसका परिवार मोहित उर्फ खजूरी द्वारा की गयी पैरवी से रंजिश मान रहे थे और बदला लेना चाहते थे। दिनांक 29.05.21 को करीब शाम 06.30 बजे अभियुक्त सौरभ, निरंजन उर्फ पप्पू, अजय गोटी व गोविंद उर्फ गुल्लू फौजी चारों लोग गुल्लू फौजी की स्विफ्ट वीडीआई कार में घूम रहे थे तथा गाड़ी में शराब का सेवन भी कर रहे थे। इसी दौरान सौरभ के गन्ने के क्रेशर के सामने मोहित उर्फ खजूरी बाइक पर आया और बाइक में साइड मारने को लेकर उनकी गाड़ी रोककर उनके साथ गाली गलौज करने लगा। इस बात पर गोविन्द उर्फ गुल्लू फौजी ने गाड़ी से नीचे उतरकर मोहित उर्फ खजूरी के साथ मारपीट शुरू दी तथा अपनी पिस्टल की बट से उसके सिर में चोट भी पहुंचाई एवं उसके ऊपर एक फायर भी किया ,जिससे उसके सिर से खून बहने लगा। उसके उपरांत चारों लोग मोहित उर्फ खजूरी को स्विफ्ट गाड़ी में अपहरण करके स्याना होते हुए बृजघाट हापुड़ की ओर चले गए तथा रात्रि में वहां पर उसके शव को गंगा जी में फेंक दिया था। अभियुक्त सौरभ द्वारा अपने परिवारीजन तथा साथियों के साथ षड़यन्त्र रचकर मोहित उर्फ खजूरी का अपहरण कर हत्या करने की घटना को अंजाम दिया गया था। अभियुक्त सौरभ के क्रेशर पर सीसीटीवी कैमरे लगे थे जिसमें सीसीटीवी फुटेज में भी मारपीट/अपहरण की घटना की पुष्टि हुई है। अभियुक्त सौरभ की निशानदेही पर डीवीआर कब्जे में लिया गया है। गिरफ्तार अभियुक्तों की निशानदेही पर मृतक मोहित उर्फ खजूरी के शव को गंगाजी में स्ट्रीमर एवं गोताखोरों की मदद से भी काफी ढूंढने का प्रयास किया गया ,परंतु गंगाजी का बहाव तेज होने के कारण अथक प्रयास करने के उपरांत भी शव बरामद नहीं हो सका है, जिसकी तलाश जारी है। स्थानीय घाटों पर रहने वाले मल्लाहों एवं पुजारियों से जानकारी करने पर इस बात की पुष्टि हुई है कि मृतक मोहित उर्फ खजूरी से मिलता-जुलता एक शव यहां से बहता हुआ देखा गया है। उक्त घटना के संबंध में पंजीकृत अभियोग में धारा 302, 201 की वृद्धि की गई है। अभियुक्त सौरभ के विरूद्ध जनपद व गैर जनपद के विभिन्न थानों में संगीन धाराओं में सात अभियोग पंजीकृत है।  अभियुक्तों की गिरफ्तारी एवं बरामदगी के संबंध मे थाना बीबीनगर पर अग्रिम वैधानिक कार्यवाही करते हुए अभियुक्तों को न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत कर जेल भेजा गया है।गिरफ्तार करने वाली स्वाट टीम में सुधीर कुमार त्यागी प्रभारी स्वाट टीम, निरीक्षक अखिलेश कुमार गौड़, एसआई अजय दीप, एसआई धीरज राठी, मुख्य आरक्षी हरेन्द्र सिंह, मुख्य आरक्षी विकास कुमार, सिपाही विशाल चौहान, सिपाही वसीम, मुख्य आरक्षी चालक जितेन्द्र त्यागी एवं अन्य कर्मचारीगण तथा बीबीनगर पुलिस टीम में योगेन्द्र कुमार प्रभारी निरीक्षक थाना बीबीनगर,एसएसआई सतीश चन्द्र, सिपाही अरविन्द सोम, सिपाही जगवीर चाहर शामिल रहे।

 170 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *