सादगी के साथ मना ईद-उल-फितर का त्योहार

सादगी के साथ मना ईद-उल-फितर का त्योहार

घरों में ही पढ़ी गई नमाज, देश में कोरोना बीमारी के खात्मे की हुई दुआएं
मथुरा।
कोरोना काल के चलते जिले में ईद-उल-फितर पर्व शांतिपूर्वक मनाया गया। अधिकांश लोगों ने अपने घरों पर ही नमाज अता की। हालांकि कुछ लोग आसपास की मस्जिदों में भी नमाज अता करने पहुंचे। सभी प्रमुख मस्जिदों पर भीड़ भाड़ न जुटे ,इसलिए पुलिसकर्मियों की तैनाती रही। मुस्लिम समाज का सबसे बड़ा पर्व ईद-उल-फितर मनाया जाता है। परंतु कोरोना महामारी के चलते इस वर्ष यह पर्व उमंग,जोश ,उल्लास के साथ नहीं मनाया जा रहा। मुस्लिम समाज अपनी-अपनी बस्तियों, मोहल्ले में ही एक-दूसरे को शुभकामनाएं मुबारकबाद देते रहे। मुबारकबाद देने का सिलसिला सोशल मीडिया और फोन पर भी गुरुवार से ही चलता रहा। ईद-उल-फितर पर्व पर आज काफी संख्या में मुस्लिमों ने गरीब लोगों को दान स्वरूप खाद्य सामग्री भेंट की। नए कपड़े पहन कर बाजारों में घूमना शॉपिंग करना एक दूसरे के घर आना-जाना इस वर्ष भी मुस्लिम भाइयों के लिए सपना बना रहा। अधिकतर लोगों ने सोशल मीडिया पर ही एक दूसरे को मुबारकबाद दी। शहर के मुस्लिम इलाके डीग गेट ,भरतपुर गेट ,नई बस्ती ,मनोहरपुरा, भार्गव गली ,मंडी रामदास सदर बाजार क्षेत्रों में मुस्लिम भाइयों की चहल-पहल दिखाई दी। कृष्ण की नगरी के बाशिंदे हिंदू भाइयों ने भी सांप्रदायिक सद्भाव के प्रतीक इस पर्व पर मुस्लिम समाज के लोगों को अलग-अलग ढंग से मुबारकबाद दी

 222 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *