श्री रामलीला महोत्सव का विधायिका ने किया उद्घाटन

श्री रामलीला महोत्सव का विधायिका ने किया उद्घाटन

समाज में पुरुषोत्तम एवं भारतीय संस्कृति के द्योतक है प्रभु श्रीराम – डॉ0 अनीता राजपूत
डिबाई/बुलन्दशहर ।
मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम द्वारा समाज में स्थापित किए गए आदर्श भारतीय संस्कृति और सभ्यता के मूल हैं। उनके बिना भारतीय संस्कृति की कल्पना नहीं की जा सकती। यह विचार डॉ0 अनीता लोधी ने अपने विधानसभा क्षेत्र डिबाई के ग्राम गंगापुर में रामलीला महोत्सव के उद्घाटन के अवसर पर  अपने संबोधन में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए व्यक्त किए। वैदिक मंत्रों रामायण पूजन और गणेश स्तुति के साथ रामलीला के उद्घाटन समारोह की मुख्य अतिथि डिबाई विधायक डॉ0 अनीता लोधी ने फीता काटकर रामलीला का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि रामायण का हर पात्र हमें विभिन्न नैतिक मूल्यों की प्रेरणा देता है, लेकिन यह दुर्भाग्य है कि हम रामायण पाठ और रामलीला जैसे विशाल आयोजन तो करते हैं, लेकिन उन चरित्रों से प्रेरणा लेने में बहुत पीछे रह जाते हैं। श्रीराम का चरित्र एक आदर्श बेटे, एक आदर्श पति, एक आदर्श भाई और एक आदर्श शासक के रूप में सदैव याद किया जाता रहेगा। उसी प्रकार माँ सीता का चरित्र एक आदर्श पत्नी और एक आदर्श माँ की हमें सदैव याद दिलाता रहेगा। 11दिवसीय रामलीला कार्यक्रम में ग्राम वासियों और रामलीला कमेटी के अध्यक्ष जय प्रकाश निराला, मंत्री बादाम सिंह, कोषाध्यक्ष मनोज कुमार, विशेष सहयोगी डॉ0 उमेश चंद्र लोधी और रविंद्र सिंह टिंकू सहित सभी पदाधिकारियों ने विधायक डॉ0 अनीता लोधी का फूल माला और पगड़ी पहनाकर अभिनंदन किया।

 54 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *