शहीद जवानों की याद में निकाला कैंडल मार्च, जवानों की शहादत का बदला ले सरकार

शहीद जवानों की याद में निकाला कैंडल मार्च, जवानों की शहादत का बदला ले सरकार

खुशहालपुर में सैकड़ों ग्रामीण हुए कैंडल मार्च में शामिल, शहीदों को किया नमन
नक्सलियों ने मुठभेड़ के बाद बंधक बनाए कोबरा के जवान राकेश्वर सिंह मन्हास को किया रिहा
देशभर में शहीदों की शहादत का बदला लेने की सरकार से उठ रही है मांग

गुलावठी/बुलन्दशहर। छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सली हमले में वीरगति को प्राप्त हुए जवानों की शहादत पर गुलावठी क्षेत्र के गांव खुशहालपुर में सैकड़ों लोगों ने हाथों में तिरंगा और कैंडल लेकर मार्च निकाला तथा शहीदों को याद करते हुए उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान गांव में कई जगह राष्ट्रभक्ति गानों का कार्यक्रम भी आयोजित हुआ। इस दौरान लोगों ने गांव में कैंडल मार्च के दौरान हिंदुस्तान जिंदाबाद, अमर शहीदों का बलिदान याद रखेगा हिंदुस्तान, देश के वीर जवानों की सहादत का बदला लो सरकार आदि के नारे भी लगाये। गौरतलब है कि बीजापुर के तर्रेम थाना क्षेत्र में बीते 03अप्रैल को सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच भीषण मुठभेड़ हुई थी। इस मुठभेड़ में सुरक्षा बल के करीब 22जवान शहीद हो गए थे और 31घायल हुए थे। इस दौरान मुठभेड़ के बाद से ही सीआरपीएफ के जवान राकेश्वर सिंह मन्हास लापता थे। नक्सलियों ने 05अप्रैल को एक प्रेस नोट जारी कर दावा किया था कि लापता जवान उनके कब्जे में है। इसके बाद उन्होंने बीते बुधवार को जवान की एक तस्वीर भी जारी की। जवान को छुड़ाने के लिए देशवासियों में आक्रोश पनप रहा था तो वहीं देशवासी सरकार से लगातार शहीदों की शहादत का बदला लेने और बंधक बनाए गए जवान की रिहाई की मांग कर रहे थे। आखिरकार नक्सलियों द्वारा बंधक बनाये जवान को आजाद कर दिया गया। गांव खुशहालपुर में कैंडल मार्च निकालने वालों में ओमपाल मोदी, सुनील मोदी, सुशील उर्फ लाला, राहुल मोदी, देवदत्त शर्मा उर्फ कालू, कपिल धनकड़, यशु मोदी, धीरज, गिन्नी, चुंगल, अशोक फौजी, हर्ष मोदी, अंकित, निशांत धनकड़, प्रिंस बैनीवाल, नितीश कौशिक, अक्षय शर्मा, हन्नी, राजू, भूपेंद्र, दीपक आदि समेत सैकड़ों लोग शामिल रहे।

 272 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *