वीकेंड लॉकडाउन पर शहर में पसरा सन्नाटा, शराब ठेकेदार चला रहे दुकानदारी, शटर के छेद से पास होती रही बोतलें

वीकेंड लॉकडाउन पर शहर में पसरा सन्नाटा, शराब ठेकेदार चला रहे दुकानदारी, शटर के छेद से पास होती रही बोतलें

सोमवार से खुलेंगी शहर की दुकानें, घरौंडा व्यापार मंडल के महासचिव ने दी जानकारी
घरौंडा।
वीकेंड लॉकडाउन के कारण शहर की सड़कों और बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा। मेडिकल से संबंधित दुकानें ही खुली रही। किरयाणा दुकानें भी बंद है, लेकिन कुछेक दुकानदार आधा शटर खोलकर ग्राहकों को सामान देने में लगे हुए है। वहीं शराब ठेकेदार भी दारू बेचने के मामले में पीछे नहीं हट रहे। शटर में बनाए गए एक छोटे से होल द्वारा शराब की दुकानदारी चलाई जा रही है। जिस पर पुलिस प्रशासन का कोई ध्यान नहीं है। आदेशों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। कोरोना की लहर को देखते हुए सरकार ने नौ जिलों में वीकेंड लॉकडाउन लगा दिया। शनिवार और रविवार जरूरी वस्तुओं जैसे मेडिकल सेवाएं, दूध डेयरी, अस्पताल, पेट्रोल पंप को छोड़कर सभी दुकानें बंद रहेगी। शनिवार को शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र तक लॉकडाउन का असर दिखाई दिया। हालांकि ग्रामीण क्षेत्रों में अलसुबह दुकानें कुछ घंटों के लिए जरूर खोली गई, लेकिन बाद में सभी दुकानों को बंद कर दिया गया। शहर में दुकानदारों ने प्रशासन के आदेशों की पालना की और अपनी  दुकानों को बंद रखा।
सोमवार को खुलेगा शहर का बाजार
करनाल के व्यापारियों ने 10 मई तक दुकानें बंद रखने का आश्वासन प्रशासन को दिया है। जिसमें उन्होंने स्वयं ही नगरपालिका क्षेत्रों की मार्किटों को बंद किए जाने का फैसला भी ले लिया, लेकिन घरौंडा व्यापार मंडल के महासचिव मोहिंद्र सोनी ने स्पष्ट किया है कि करनाल के व्यापारी दूसरे क्षेत्रों की दुकानों को बंद करने का निर्णय नहीं ले सकते। घरौंडा के बाजार सोमवार से खुले होंगें। सरकार ने वीकेंड लॉकडाउन लगाया है और घरौंडा के व्यापारी इसकी अच्छी तरह से पालना कर रहे है।
शटर के छेद से चलती रही शराब की दुकानदारी
प्रशासन ने सभी दुकानों को बंद करने के आदेश दिए है लेकिन शराब ठेकेदार नियमों की अवहेलना करने में लगे हुए है। भले ही शराब की दुकानों के शटर बंद हो, लेकिन शराब की बिक्री का काम पहले की भांति ही चल रहा है। यदि किसी व्यक्ति को शराब लेनी है तो वह शटर में बने छेद से पैसे अंदर दे दे और अंदर बैठा कारिंदा तुरंत उसे शराब की बोतल थमा देता है। शाम के समय भीड़ काफी बढ़ जाती है। पुलिस पर निगरानी रखने के लिए एक कारिंदा बाहर खड़ा रहता है और अंदर वाले कारिंदे से फोन पर कनेक्ट रहता है। जैसे ही पुलिस आती है तो तुरंत उसकी सूचना दे दी जाती है और अंदर बैठा कारिंदा लाइटें बंद कर देता है। पुलिस के जाने के बाद फिर से दुकानदारी चलती है।वहीं इस संबंध में थाना प्रभारी मोहन लाल से बात की गई तो उन्होंने बताया कि शहर में वीकेंड लॉकडाउन है। यदि कोई शराब ठेकेदार शटर के होल से शराब की बिक्री कर रहा है, तो उसके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।

 290 total views,  4 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *