विधायक ने ऑक्सीजन प्लांट का किया शिलान्यास

विधायक ने ऑक्सीजन प्लांट का किया शिलान्यास

लगभग 80 लाख की कीमत से एनएपीएस द्वारा कराया जाएगा निर्माण
फाउंडेशन पूर्ण होने के लगभग 22 दिन के अंदर होगा कार्य पूर्ण
डिबाई/बुलन्दशहर ।
कोविड काल के दौरान एल-1 की शुरुआत बेशक डिबाई क्षेत्र की जनता के लिए काफी लाभकारी सिद्ध हो रहा है। मीडिया, प्रशासन एवं डिबाई विधायक डॉ0 अनीता लोधी द्वारा किये गए संयुक्त प्रयासों के परिणामस्वरूप जहां एक ओर इस कोविड एल-1 के सुचारू होने से स्थानीय लोगों को स्वास्थ्य लाभ हुआ है तो वही स्थानीय विधायक द्वारा किये गए प्रयास के चलते नरौरा परमाणु विद्युत ऊर्जा केंद्र के सहयोग से ऑक्सीजन जेनरेटर प्लांट का निर्माण कार्य किया जाना भी सुनिश्चित हो सका है। इसी क्रम में सोमवार को डिबाई विधायक डॉ0 अनिता राजपूत ने सौ शैया का संयुक्त चिकित्सालय कोविड एल-1 परिसर में ऑक्सीजन जनरेटर प्लांट की आधारशिला रखी।
ऑक्सीजन जेनरेटर प्लांट के विषय मे विस्तृत जानकारी देते हुए डॉ0 अनिता राजपूत ने बताया कि इस संयंत्र का निर्माण नरौरा परमाणु विद्युत ऊर्जा केंद्र के सहयोग से किया जा रहा है। जिसके लिए उन्होंने एनएपीएस के केंद्र निदेशक से निगम सामाजिक उत्तरदायित्व योजना के अंतर्गत ऑक्सीजन जेनरेटर प्लांट हेतु आवश्यक धनराशि आवंटित करने का अनुरोध किया था, जिसका संज्ञान लेते हुए एनएपीएस ने इस ऑक्सीजन जेनेरेटर प्लांट की स्थापना के लिए 80लाख रुपये का अनुमानित व्यय निर्धारित किया। जिसके बाद न्यूक्लियर पावर कारपोरेशन इंडिया लिमिटेड मुख्यालय, ने ऑक्सीजन जेनेरेटर प्लांट स्थापना हेतु आवश्यक धनराशि की स्वीकृति दे दी है। ऑक्सीजन जेनेरेटर प्लांट की प्रक्रिया को पूर्ण करने हेतु नरौरा परमाणु विद्युत केंद्र ने डॉ0 योगेन्द्र पाल सिंह , चिकित्सा अधीक्षक नरौरा परमाणु विद्युत केंद्र चिकित्सालय को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। वहीं दूसरी ओर डॉ0 सीपी गौतम, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक 100 शैय्या के संयुक्त चिकित्सालय डिबाई को मुख्य चिकित्सा अधिकारी बुलन्दशहर ने प्रशासन की ओर से कार्यदायी अधिकारी का दायित्व दिया गया है। इसीक्रम डॉ0 राजपूत ने बताया कि यूपीआरएनएन द्वारा अभी इस भवन को पूर्ण नही किया गया है। जिसके चलते अभी इसका विधिवत लोकार्पण नही हो पाया है। अतः अभी इस अस्पताल को पूर्णरूपेण सुचारू कराने में कुछ टेक्निकल प्रॉब्लम हैं ,जिनको सीघ्र ही यूपीआरएनएन तथा स्वास्थ्य विभाग के साथ बैठकर शीघ्र ही सुलझा लिया जाएगा। जहां तक वर्तमान में 63केवी के विद्युत ट्रांसफॉर्मर का मसला है कि यहाँ 63 के स्थान पर 250 केवीएस के विद्युत भार के संयंत्र की आवश्यकता है। इस संदर्भ में भी शासन से वार्ता जारी है और शीघ्र ही इस समस्या को भी सुलझा लिया जाएगा। इस ऑक्सीजन जेनेरेटर प्लांट की स्थापना से डिबाई क्षेत्र में ऑक्सीजन प्रचुरता से उपलब्ध हो सकेगी और ऑक्सीजन की कमी से जूझते हुए मरीजों को दूरस्थ अस्पतालों में भिजवाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। जैसा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन का मानना है कि कोरोना की तीसरी लहर आना अभी बाकी है। यदि ऐसा होता है तो यह ऑक्सीजन जेनरेटर प्लांट इस क्षेत्र के लिए संजीवनी से कम नहीं होगा। साथ ही निर्बल वर्ग के मरीजों को स्थानीय स्तर पर अपेक्षाकृत सुलभ उपचार प्राप्त हो सकेगा। चिकित्सालय के प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक डॉ0 सी.पी. गौतम ने सौ शैया चिकित्सालय को जोड़ने वाले कच्चे मार्ग को पक्का कराने का प्रस्ताव भी विधायक डॉ0 अनीता लोधी के समक्ष रखा।विधायक ने अवगत कराया कि इस मार्ग का प्रस्ताव वह लोक निर्माण विभाग को भेज चुकी हैं। वह इस मार्ग के पक्का होने की कार्यवाही शीघ्र पूर्ण करायेंगी। इस कार्यक्रम में एल-1 डिबाई में कार्यरत डॉक्टरों एवं स्टाफ नर्स के अलावा विधायक कार्यालय प्रभारी सन्तोष गोस्वामी, सोमवीर सिंह, हेमराज सिंह दानपुर भाजपा मंडल अध्यक्ष, सुरेन्द्र कुमार वर्मा डिबाई भाजपा मंडल महामंत्री, नरौरा मण्डल अध्यक्ष बी0बी0 सिंह, नरौरा चेयरमैन विवेक वशिष्ठ, चन्द्रवीर सिंह आढ़ती, आदि वरिष्ठ समाज सेवियों ने शिरकत की।

 176 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *