विद्युत विभाग के खिलाफ भाकियू ने अधिशासी अभियंता को सौंपा ज्ञापन

विद्युत विभाग के खिलाफ भाकियू ने अधिशासी अभियंता को सौंपा ज्ञापन

समस्या का शीघ्र समाधान न होने पर महिला मोर्चा का चढ़ेगा पारा
डिबाई/बुलन्दशहर
। यूं तो किसानों के लिए सभी राजनैतिक दलों का ये दावा होता है कि हमारे शासन में किसान बेहद सुखी है। लेकिन असल जिंदगी में हालात कुछ और ही बयां करते हैं। किसान चाहे छोटा काश्तकार हो या बड़ा। किसान की दशा और दिशा दोनों ही सदैव से कष्टकारी ही है। इसी आवाज को बुलन्द करने का काम करता है भारतीय किसान यूनियन! हालांकि वर्तमान में किसान के हितों के लिए संघर्षशील कई संगठन सक्रिय हैं ,लेकिन सभी के उद्देश्य सिर्फ और सिर्फ किसान हित ही है। ऐसे में भारतीय किसान यूनियन किसान शक्ति ने विगत समय में किसान के मुद्दों को प्रमुखता से उठाया है।
ऐसा ही एक मुद्दा उठाते हुए भारतीय किसान यूनियन किसान शक्ति ने बुधवार को सूबे के मुख्यमंत्री को नामित करते हुए एक ज्ञापन अधिशासी अभियंता को सौंपा। जिसमे डिबाई नगर एवं देहात में की जा रही विद्युत आपूर्ति को लेकर होने वाली समस्याओं को उल्लेखित करने के साथ-साथ किसानों के विद्युत भार को अपने मनमाने ढंग से बढ़ा देने जैसी समस्याओं का भी जिक्र किया। ज्ञापन के दौरान किसानों का पक्ष रखते हुए राष्ट्रीय महासचिव गजेन्द्र शर्मा ने कहा कि देश के अन्न दाता एवं व्यापारी भाइयों को कोरोना महामारी के दौरान भी विद्युत बिल मे कोई छूट नही मिली है। जिसके चलते कोरोना में लॉक डाउन की मार झेल रहे आम आदमी को बिजली के बिलों के रूप में बेहद तीक्ष्ण करंट लगा है, जिससे आर्थिक रूप से टूटा हुआ किसान और व्यापारी बिल्कुल पस्त हो गया है। इसीक्रम में किसानों के एक अन्य अहम मुद्दे पर प्रकाश डालते हुए दिलीप गुप्ता भट्टे वालो ने एक्सईएन को बताया कि किसानों को बिना अवगत कराए कई किसानों के अधिभार में विभाग ने स्वतः ही बढ़ोतरी कर दी है। जिसकी वजह से किसान को दुगुना और तिगुना बिल का भुगतान करना पड़ रहा है। जिसका समाधान शीघ्र कराए जाना बेहद आवश्यक है। इसी के साथ महिला मोर्चा से मॉन्टी शर्मा ने कहा कि भीषण गर्मी में महिलाएं अपना सारा दोपहर का समय घरेलू कामो मे बिताती हैं। ऐसे में विद्युत कटौती एव बार बार ट्रिपिंग से न सिर्फ आम जनजीवन प्रभावित होता है ,बल्कि बिल भी बोहुत बढ़ कर आते है। अतः विभाग शीघ्र अपनी कुम्भकर्णीय नींद से जागे और इस सभी समस्याओं का शीघ्र निस्तारण करें अन्यथा महिलाऐं इस मुद्दे को आंदोलन के रूप में पुरजोर ढंग से उठाएंगी। ज्ञापन के दौरान एक्सईएन कार्यालय में अनिल गुप्ता टीआर,नेम पाल सिंह,अभिषेक शर्मा के अलावा ज्योति गुप्ता,अनु परवीन,बबिता,राजेश्वरी, रेखा देवी,गंगा देवी आदि लोग प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

 246 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *