वर्तमान हालातों के लिए निश्चित ही देश की जनता स्वयं जिम्मेदार – सैय्यद मुनीर अकबर

वर्तमान हालातों के लिए निश्चित ही देश की जनता स्वयं जिम्मेदार – सैय्यद मुनीर अकबर

बुलन्दशहर। शहर कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक विभाग प्रदेश महासचिव सैय्यद मुनीर अकबर ने कहा कि लगाया पेड़ बबूल का तो आम कहां से खाय’। बीजेपी की पॉलिसी ने उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम, बिजली विभाग, नगर पालिका ,शिक्षा विभाग, सिचाई विभाग ,पीडब्ल्यूडी विभाग ,मेडिकल विभाग जैसे दर्जनों विभागों में कर्मचारियों को स्थाई रोजगार की जगह कर्मचारियों को संविदा पर रखने से इन विभागों में लगे संविदा कर्मचारियों के परिवारों का जीवन स्तर निम्नतम स्तर पर पहुँच गया है’ और इन कर्मचारियों के साथ-साथ इनकी आने वाली पीढि़यों के आगे भी अच्छी शिक्षा और अच्छी परवरिस से महरुम रहने के कारण बहुत बड़ा संकट आने वाला है ,साथ ही इन विभागों में भी विश्वास का संकट खड़ा हो गया है. लेकिन इस सबके लिए बहुत हद तक यूपी की जनता ही जिम्मेदार है जो वोट ,जाति और धर्म के नाम पर लगातार 25-30 सालों से डालती चली आ रही है जिसका खामियाजा आज की पीढ़ी को सरकारी विभागों में नौकरी के नाम पर संविदा कर्मियों के रूप में भुगतना पड़ रहा है या फिर देश भर में रोजगार की तलाश में भटकना पड रहा है, लेकिन बीजेपी ने धीरे-धीरे जनता को इसी दीन हीन अवस्था में जीने की आदत डाल दी है क्योंकि आज इतनी ज्यादा मंहगाई ,बेरोजगारी ,भुखमरी ,गरीबी और कोरोना महामारी में सरकार का अपनी जिम्मेदारियों से पलायन के बाबजूद जनता के अन्दर सरकार के प्रति आक्रोश नहीं है ,इसलिए जनता अपनी दुर्दशा की स्वयं जिम्मेदार है।
उन्होंने आगे कहा कि हमें देश और जनता के बेहतर भविष्य हेतु सामंती सोच व जनता को फटेहाल बनाए रखने वाली मानसिकता के लोगों को अब सत्ता से दूर रखना होगा।सोच बदलो और देश बदलो। पूर्व कांग्रेस सरकारों ने देश को आजादी पूर्व के अभाव के हालातों से न केवल बाहर निकाला बल्कि करोड़ों करोड़ सरकारी नौकरियां देकर जहां आम जनता को तमाम जरूरी सुविधाएं मुहैया कराईं गई। वहीं लोगों को स्वस्थ कंपटीशन के जरिए बेहतर भविष्य बनाने और सुरक्षित जीवन जीने व सामाजिक न्याय व सभी को समान अवसर और कमजोरों को विशेष छूट देकर करोड़ों करोड़ सरकारी नौकरियों के अवसर प्रदान किए थे। आज देश की जनता विशेष रूप से युवाओं को इन सभी से महरूम किया जा रहा है। निजीकरण के जरिए कर्मचारियों से 12 घंटे काम लेकर उन्हें एक बार फिर से बंधुआ मजदूर बनाया जा रहा है, जिन हालातों से कांग्रेस सरकारें राष्ट्रीयकरण के जरिए देश और जनता को बाहर निकाल कर लाईं थी।  आज देश व जनता को लगातार पीछे ले जाने वालों के खिलाफ एकजुट होकर उन्हें सत्ता से बेदखल करना होगा।

 396 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *