राष्ट्रीय लोक अदालत में आपसी सुलह समझौते से कराएं अधिक से अधिक वादों का निस्तारण

राष्ट्रीय लोक अदालत में आपसी सुलह समझौते से कराएं अधिक से अधिक वादों का निस्तारण

22जनवरी को वैवाहिक प्री लिटिगेशन वादों के लिए प्रस्तावित हुई लोक अदालत
बुलन्दशहर
। राष्ट्रीय लोक अदालत को नजदीक आते देख जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा अनेक तैयारियां की जा रही हैं ,जिसमें लगातार बैठकों का सिलसिला जारी है, जिसे राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाया जा सके एवं अधिक से अधिक वादों का निस्तारण सुलह समझौते के आधार पर किया जा सके और लंबित पड़े वादों में कमी लाई जा सके। न्यायालय परिसर में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा न्यायिक अधिकारियों ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ एक बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए ,जिससे अधिक से अधिक प्रचार हो सके और लोगों को लाभ देते हुए सुलह समझौते से वादों का निस्तारण किया जा सके।
बता दें कि राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ तथा जनपद न्यायाधीश अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बुलन्दशहर के दिशा निर्देशन में 11 दिसंबर को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाना है आयोजित होने वाली आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल निस्तारण के संबंध में जनपद न्यायाधीश अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कुशल दिशा निर्देशन में तथा नोडल अधिकारी राष्ट्रीय लोक अदालत दीवानी न्यायालय की अध्यक्षता में न्यायिक अधिकारीगण और प्रशासनिक अधिकारीगणों के साथ निरंतर बैठकें आयोजित की जा रही है। सुमन तिवारी सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा बताया गया कि आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत 21 दिसंबर में उपस्थित होकर अपने अधिक से अधिक वादों का निस्तारण आपसी सुलह समझौते के आधार पर कराएं ,जिसमें कोर्ट फीस नहीं लगती पुराने मुकदमों की कोर्ट फीस वापस हो जाती है। किसी पक्ष को सजा नहीं होती। मामलों को बातचीत द्वारा हल किया जाता है। मुआवजा और हर्जाना तुरंत मिल जाता है ,मामलों का निस्तारण तुरंत हो जाता है। सभी को आसानी से न्याय मिल जाता है ,फैसला इसका अंतिम होता है। इसके निर्णय की कोई अपील नहीं की जाती इस प्रकार के अनेक लाभ दिए जाते हैं ,जिसका प्रचार प्रसार अधिक से जमीनी स्तर तक किया जा रहा है, जिसका अधिक से अधिक लाभ लें तथा 22जनवरी 2022 को विवाहित प्री लिटिगेशन वादों को आपसी सुलह समझौते के आधार पर निस्तारण करने हेतु लोक अदालत प्रस्तावित की गई है ,जिसमें वाद कार्यों से अपील की जाती है कि वह अपने वैवाहिक वादों के निस्तारण हेतु प्रार्थना पत्र पीएलवी डाक सीएससी के माध्यम से या स्वयं कार्यालय जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बुलन्दशहर में उपस्थित होकर शीघ्र भिजवाने सुनिश्चित करें जिससे दूसरे पक्ष को नोटिस का पर्याप्त समय रहे और इस अवसर का लाभ उठाया जा सके। इस प्रकार 11 दिसंबर को आयोजित होने वाली राष्ट्रीय लोक अदालत का लाभ सभी को मिलेगा जिसमें अधिक से अधिक आगे बढ़ कर हिस्सा लें और राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने में सहयोग करें तथा अधिक से अधिक प्रचार कर राष्ट्रीय लोक अदालत में सुलह समझौते के आधार पर अपने वादों का निस्तारण कराया जिसमें धन और समय दोनों की बचत होगी। इस बैठक में अनेक न्यायिक अधिकारीगण और प्रशासनिक अधिकारीगण तथा चमनेश कुमार सहित अन्य कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

 160 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *