राम-भरत मिलाप की लीला का हुआ मंचन

राम-भरत मिलाप की लीला का हुआ मंचन

नगर के प्रमुख प्रतिष्ठानों पर हुआ भरत मिलाप
डिबाई/बुलन्दशहर। श्री
राम लीला महोत्सव 2021 के मंचन अब लगभग अंतिम चरण में पहुंच गये है। जिसके चलते लंकापति रावण, कुम्भकर्ण एवं इंद्रजीत के वध के उपरांत लंका पर विजय प्राप्त करके भगवान श्रीराम प्रभु माता जानकी एवं भ्राता लखन के साथ वापस अयोध्या को चल पड़ते हैं। इसी क्रम में शास्त्रानुगत वृतांत के अनुसार भ्राता भरत उनकी अगुवाई के लिए नगर के मुख्य द्वार पर दौड़ पड़ते हैं। अतः उक्त लीला को श्रीराम भरत मिलाप लीला के नाम से मंचित किया जाता है। इसी लीला का मंचन डिबाई के प्रमुख प्रतिष्ठानों पर किया गया, जिसमें भगवान श्री राम माता जानकी एवं लंका विजय में उनके सभी इष्ट मित्रो के साथ अयोध्या को वापस लौटते हैं। उक्त लीला के संवाद श्रीकृष्ण गोपाल रामलीला संस्थान वृंदावन के व्यास पंकज ठाकुर ने कह सुनाया। इसके बाद गगन मित्तल के प्रतिष्ठान पर दोनों भ्रताओ के मिलन के बाद सभी एक रथ में सवार हो कर श्रीराम लीला मैदान की ओर बढ़ चले। कार्यक्रम में मौजूद प्रमुख रूप से उपस्थित प्रतिष्ठान स्वामी विजय मित्तल, ठाकुर अरुण सिंघल, नरेश चंद आरा मशीन वाले, उमेश वार्ष्णेय, रजत ठाकुर, बिट्टू जोगी, सुभाष चंद्र सिंघल एडवोकेट, मनोज सिंघल हल्दीराम, हृदेश वार्ष्णेय बॉबी, रमेश पहलवान, पिंकी वार्ष्णेय साइकिल वाले, संदीप गुरु, अमन मित्तल, अर्पित मित्तल, माधव मित्तल, देवेंद्र वार्ष्णेय कबाड़ी, कन्नू, नन्दू , दीपक बर्तन वाले, अमित पापा, आदर्श शर्मा पोपी पंडित आदि नगरवासी रहे।

 68 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *