राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष ने चिकित्सालयों का किया निरीक्षण

राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष ने चिकित्सालयों का किया निरीक्षण

सभी महिलाएं अपना एवं अपने घर वालों का टीकाकरण अवश्य कराएं – सुषमा सिंह
महिलाओं, बालिकाओं एवं वृद्ध महिलाओं को प्राथमिकता के माध्यम से टीकाकरण की व्यवस्था की जाए, लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी-उपाध्यक्ष
बुलन्दशहर।
उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह द्वारा जनपद के चिकित्सालयों का निरीक्षण किया गया। उपाध्यक्ष द्वारा जनपद के सीएचसी सिकन्द्राबाद में ओपीडी, टीकाकरण ,महिला वार्ड तथा महिला विंग का निरीक्षण किया गया। सीएचसी सिकन्द्राबाद में उपाध्यक्ष द्वारा महिला वार्ड प्रसूता कक्ष शौचालय एवं अस्पताल की साफ-सफाई की स्थिति तथा महिला टीकाकरण की स्थिति की जानकारी ली। इसके साथ-साथ अस्पताल में महिलाओं की सुविधाओं के बारे में जाना। उपाध्यक्ष जनपद के अस्पतालों में महिलाओं को दी जा रही सुविधाओं से संतुष्ट नजर आई, उनके द्वारा अस्पताल के वार्डों में साफ-सफाई कपड़ों की स्वच्छता कोविड प्रोटोकॉल का अनुपालन तथा शौचालय की स्वच्छता और बेहतर तरीके से किए जाने के निर्देश दिए। इसके अलावा उनके द्वारा जनपद की सभी महिलाओं से अपील की कि वह अपना तथा अपने घर वालों का टीकाकरण अवश्य कराएं तथा टीकाकरण के बारे में फैली अफवाहों एवं झूठी खबरों पर विश्वास न करें। कोरोना से बचाव हेतु अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करने हेतु टीकाकरण अति महत्वपूर्ण है। निरीक्षण का उद्देश्य प्रदेश में महिलाओं की चिकित्सीय स्थिति की जमीनी जानकारी लिए जाने, महिलाओं को शासन द्वारा प्रदत्त सुविधाओं की स्थिति का अवलोकन एवं कोविड काल में गर्भवती महिलाओं तथा अन्य गंभीर रोगों से पीडि़त महिलाओं को उपलब्ध कराए जा रही सुविधाओं एवम उपचारों की जानकारी लेना है। निरीक्षण के दौरान सिकन्द्राबाद सीएचसी पर लगाए गए ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण किया गया तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा की गई।उपाध्यक्ष द्वारा राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अन्तर्गत प्राप्त आवेदन पत्रों की समीक्षा की गई। महिला कल्याण अधिकारी द्वारा बताया गया कि जनपद में 44 बच्चो को चिन्हित किया गया है तथा 10 बच्चों के आवेदन पत्रों को सत्यापन की कार्यवाही की जा रही है।उपाध्यक्ष महोदया द्वारा सत्यापन कार्यवाही पूर्ण कराकर बच्चांे को लाभान्वित किए जाने के निर्देश दिए गए। उपाध्यक्ष द्वारा निर्देश दिए गए कि महिलाओं, बालिकाओं एवं वृद्ध महिलाओं को अलग से प्राथमिकता के माध्यम से टीकाकरण की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए, उसमें कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी।
        जनपद में महिला कल्याण विभाग के अंतर्गत संचालित कार्यालयों जैसे राजकीय संप्रेक्षण गृह, जिला प्रोबेशन कार्यालय, महिला शक्ति केंद्र, वन स्टॉप सेंटर, बाल कल्याण समिति, किशोर न्याय बोर्ड आदि के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के कोविड-19 वैक्सीनेशन हेतु कैंप का आयोजन किया जाना चाहिए। जिसमें विभाग के सभी अधिकारियों/कर्मचारियों का पूर्ण टीकाकरण कराया जाए।निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 भवतोष शंखधर , उपजिलाधिकारी सिकन्द्राबाद, क्षेत्राधिकारी सिकन्द्राबाद, सीएचसी चिकित्सा अधिकारी, महिला कल्याण अधिकारी, महिला थाना प्रभारी बुलन्दशहर, एवं समस्त  सीएचसी चिकित्सा स्टाफ निरीक्षण के समय मौजूद रहे।
उपाध्यक्ष द्वारा जनपद को एक संदेश दिया गया ,जिसमें उनके द्वारा यह अपील की गई कि देश का सबसे बड़ी आबादी वाला राज्य उत्तर प्रदेश है, कोरोना की दूसरी महामारी से निपटने के लिए  प्रदेश सरकार ने बेहतर प्रयास किया है। प्रदेश में 30अप्रैल को 306703 संक्रमित मरीजांे की संख्या उत्तर प्रदेश में थी। ट्रिपल टी फार्मूला लागू करने का परिणाम है कि 24 करोड़ आबादी वाले प्रदेश में एक्टिव केस लगातार कम हो रहे हैं। देश के हर एक जनपद में वैक्सीननेशन बूथ बनाकर जनता को सुरक्षा कवच प्रदान करना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। हर एक ग्रुप वालों को वैक्सीननेशन कर कवर कर रहे हैं। संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए लगातार प्रयास जारी हैं। कोरोना की लड़ाई सामूहिक लड़ाई सबको मिलकर लड़ना होगा। हमारी अपील है कि वैक्सीननेशन कराने के  बाद भी सावधानी बरतने की बहुत ज्यादा जरूरत है। सभी लोग बिना डरे टीकाकरण कराए और दूसरों को भी प्रेरित करें ,मैं जनता से अपील करती हूं।

 144 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *