मारपीट, हंगामा एवं बवाल के बीच सम्पन्न हुआ त्रिस्तरीय मतदान, 72.80 प्रतिशत रहा मतदान

मारपीट, हंगामा एवं बवाल के बीच सम्पन्न हुआ त्रिस्तरीय मतदान, 72.80 प्रतिशत रहा मतदान

बुलन्दशहर।अंतिम चरण के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का मतदान गुरुवार को छुटमुट मारपीट, हंगामा और बवाल के बीच सम्पन्न हुआ, और पूरे जिले का मतदान प्रतिशत 72.80 रहा। दिनभर हंगामे की सूचना कंट्रोल रूम को मिलती रहीं। कुछ बूथों पर कोविड-19 के नियमों का पालन किया गया तो अधिकांश बूथों पर सोशल डिस्टेंसिंग नजर नहंी आई। मतदान करने में जनपद तहसील मतदाताओं ने सबसे अधिक 73.66 प्रतिशत वोट डाले। फरीद बांगर गांव में बूथ की खिड़की तोड़कर उपद्रवी मतपेटिका लूटकर ले गए।मतपत्रों को जलाने का भी प्रयास किया गया। वहीं राज्यमंत्री अनिल शर्मा के पैतृक गांव सुरजावली में फर्जी मतदान का आरोप लगा कर जमकर हंगामा हुआ। जनपद में गुरुवार को जिले के कुल 16 विकास क्षेत्रों की 946 ग्राम पंचायतों में सुबह 7 बजे मतदान शुरू हुआ। मतदान के शुरू होने के साथ कंट्रोल रूम पर मारपीट, फर्जी मतदान, हंगामा, वोट डालने से रोकने आदि सूचना आनी शुरू हो गई। प्रत्येक सूचना पर पुलिस और प्रशासन के अधिकारी दौड़ते नजर आए। शाम 6 बजे तक कुल मतदान 72.80 प्रतिशत हुआ।
1490 मतदान केंद्र एवं 3593 बूथों पर पड़े वोट
जिले में सभी 946ग्राम पंचायतों में 1490 मतदान केंद्र और 3593 बूथ बनाए गये थे,जहां इन सभी बूथों पर वोट डाले गये। कही पर मतदाताओं की लंबी लाइन दिखाई दी तो कहीं पर पूर्ण सन्नाटा पसरा रहा। मतदान के साथ ही 21723 प्रत्याशियों के भाग्य मतपेटियों में कैद हो गया। अब 02मई को मतगणना के साथ ही प्रत्याशियों के भाग्य का पिटारा खुलेगा।
जिले में एडीजी, कमिश्नर, आईजी डाले रहे डेरा
पंचायत चुनाव को अति संवदेनशील मानते हुए मेरठ जोन के एडीजी राजीव सभरवाल, कमिश्नर सुरेन्द्र सिंह, आईजी प्रवीण कुमार, मुजफ्फरनगर के एसपी देहात जिले में डेरा डाले रहे। उक्त सभी अधिकारी मतदान केंद्रों का दौरा कर पल-पल का जायजा लेते रहे।
राज्यमंत्री अनिल शर्मा के ग्राम सुरजावली में फर्जी मतदान कराने को लेकर हंगामा
शिकारपुर क्षेत्र के गांव सुरजावली में फर्जी मतदान को लेकर दो पक्ष आमने-सामने आ गये। सूचना मिलते ही एसएसपी भारती सिंह एवं शिकारपुर सीओ जितेन्द्र कुमार रस्तोगी मय पुलिस बल के मौके पर पहुंचे। बता दें कि गुरुवार की शाम सुरजावली गांव में एक युवक मतदान के लिये मतदान केन्द्र पर गया। उसके पास पहचान के रूप में आधार कार्ड की फोटो कापी थी। एक पक्ष द्वारा उसे फर्जी करार दिये जाने के बाद उसे वापस भेज दिया, बाद में उसे असली आधार कार्ड लाने पर फिर उसका विरोध शुरु हुआ, जिसके बाद दोनों पक्षों के लोग आमने-सामने आ गये। मामला बढता देख मौके पर पुलिस को बुलाया गया। सेक्टर और जोनल मजिस्ट्रेट के पहुंचने के बाद आधार कार्ड दिखाने पर उसे सही होने पर उसका मतदान कराया गया। उक्त ग्राम प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री अनिल शर्मा का है। राज्यमंत्री के भाई की पत्नी भी प्रधान पद की प्रत्याशी हैं। उधर, प्रधान पद के दूसरे प्रत्याशी ने राज्यमंत्री पर मतदान को प्रभावित कर फर्जी मतदान कराने का आरोप लगाया है। मगर राज्यंत्री ने आरोपों को निराधार बताया है।
कुछ लोगों ने ग्राम सुरजावली में वास्तविक मतदाताओं को मतदान करने से रोकने का प्रयास किया। विरोधी प्रत्याशी के समर्थकों ने आईडी चेक करने का प्रयास किया, जिसका विरोध हुआ। पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में शांतिपूर्ण मतदान सम्पन्न हुआ। -अनिल शर्मा, वन, पर्यावरण एवं जलवायु राज्यमंत्री

 224 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *