मानवाधिकार भ्रष्टाचार निवारण संस्था ने निजी अस्पतालों को खोलने की मांग की

मानवाधिकार भ्रष्टाचार निवारण संस्था ने निजी अस्पतालों को खोलने की मांग की

एमबीबीएस चिकित्सकों ने अपने अस्पतालों को किया बंद, लोग हुए परेशान
बुलन्दशहर/खुर्जा।
विभिन्न स्थानों पर मौजूद एमबीबीएस चिकित्सकों द्वारा संचालित अस्पतालों को बंद कर दिया गया, जिससे लोग काफी परेशान हैं। मानवाधिकार भ्रष्टाचार निवारण संस्था ने एसडीएम को संबोधित ज्ञापन तहसीलदार को सौंपकर जल्दी ही अस्पतालों को खुलवाने की मांग की। सोमवार की सुबह मानवाधिकार भ्रष्टाचार निवारण संस्था के कुछ कार्यकर्ता एकत्रित होकर नई तहसील परिसर में पहुंचे। जहां उन्होंने बताया कि पिछले कुछ दिनों से तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए एमबीबीएस चिकित्सकों ने अपने अस्पतालों को बंद कर दिया है, जिससे आमजन को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में एमबीबीएस चिकित्सकों द्वारा संचालित अस्पतालों को जल्दी खोलना चाहिए, जिससे आमजन को परेशानी न हो। उन्होंने एसडीएम को संबोधित ज्ञापन तहसीलदार को सौंपा, साथ ही जल्दी ही अस्पतालों को खुलवाने की मांग की। इस मौके पर विपिन, राजकुमार गुप्ता, योगेश राघव, अनुपम, अजय, आनंद, जितेन्द्र गोस्वामी आदि मौजूद रहे।

 230 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *