भीषण गर्मी में पक्षियों की प्यास बुझाने को प्राचीन जानकी बल्लभ मंदिर ने प्रारम्भ की मुहिम

भीषण गर्मी में पक्षियों की प्यास बुझाने को प्राचीन जानकी बल्लभ मंदिर ने प्रारम्भ की मुहिम

मथुरा/वृन्दावन। भीषण गर्मी में पेयजल से व्याकुल पक्षियों के लिए अब मंदिर देवालय भी आगे आने लगे है। पक्षियों की प्यास बुझाने के लिए केसीघाट स्थित प्राचीन जानकी वल्लभ मंदिर ने गुरुवार से नगर में पक्षियों के लिए जल पात्र वितरित करने की मुहिम की शुरुआत गोपीनाथ बाजार क्षेत्र से की। मंदिर पीठाधीश्वर जगतगुरु अनिरुद्धाचार्य महाराज ने कहा कि भारतीय संस्कृति और सभ्यता में अनादि काल से पक्षियों की निस्वार्थ सेवा का अपना ही अलग महत्व रहा है। भारतीय धर्म संस्कृति भी मूक प्राणियों की सेवा करने की प्रेरणा समाज को देती है। बाबा स्वामी गोविंद दास ने कहा कि भीषण गर्मी के मौसम में पेयजल के लिए हर व्यक्ति-हर प्राणी व्याकुल रहता है। यदि प्यास लगने के समय उसे  पानी न मिले तो उसकी मृत्यु भी हो जाती है। ऐसे में प्यास से व्याकुल पक्षियों को पेयजल उपलब्ध कराना सबसे बड़ी धर्म परायण सेवा है। समाजसेवी अंकित वार्ष्णेय ने कहा कि जानकी वल्लभ मंदिर के द्वारा पक्षियों के लिए शुरू की गई यह जल पात्र की मुहिम समाज के लिए अनुकरणीय और प्रेरणा स्रोत है। नगर के विभिन्न मंदिर- देवालयों को भी इस मुहिम का समर्थन करते हुए वृंदावन के विभिन्न क्षेत्रों में प्यास से व्याकुल पक्षियों के लिए जल पात्र रखने चाहिए, ताकि जल की कमी के चलते श्री धाम वृंदावन की पवित्र धरा पर किसी भी पक्षी की मृत्यु न हो। इस अवसर पर रितिक वार्ष्णेय संजय शर्मा राधेश्याम वार्ष्णेय तुषार वार्ष्णेय आदि मौजूद रहे।

 126 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *