भारतीय किसान यूनियन ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

भारतीय किसान यूनियन ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

निजी स्कूलों पर जबरन फीस वसूली के लगाए संगीन आरोप
बुलन्दशहर
। भारतीय किसान यूनियन (किसान शक्ति) के पदाधिकारियों ने सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ को नामित एक ज्ञापन निजी स्कूलों द्वारा जबरन फीस वसूली को लेकर जनहित में जिला मुख्यालय पर जिलाधिकारी बुलन्दशहर को ज्ञापित किया। जिसे डीएम की अनुपस्थिति में प्रभारी अधिकारी उपजिलाधिकारी संजय कुमार ने प्राप्त किया। किसान नेता ने शासन को भेजे गए ज्ञापन के अनुसार सभी अभिभावक आर्थिक रूप से अत्यधिक कमजोर हो गये है। साथ ही समस्त जनपद बुलन्दशहर के निजी विद्यालय 12वीं तक के स्कूलों का प्रबन्ध तन्त्र छात्र-छात्राओं पर अत्यधिक दबाव बनाकर अवैध फीस वसूली खुलेआम कर रहें हैं, जबकि कोरोना काल में लॉकडाउन के कारण वर्तमान समय तक सभी विद्यालय/स्कूलो को बन्द रखा गया है, जिसके चलते उनमें कोई शिक्षण कार्य भी नहीं हुआ है । यधपि निजी स्कूली प्रबन्ध तन्त्र जबरिया अवैध फीस वसूली करने हेतु छात्र-छात्राओं के परिजनों पर आर्थिक व मानसिक दबाब बना रहे हैं, जिससे अभिभावकों का लगातार मानसिक एवं आर्थिक शोषण किया जा रहा है। भारतीय किसान यूनियन (किसान शक्ति) के पदाधिकारियों द्वारा अवगत कराया गया कि डिबाई क्षेत्र में पड़ने वाले निजी स्कूलों जोकि सीबीएसई बोर्ड से मान्यता प्राप्त विद्यालय हैं, उनके द्वारा जो अवैध फीस वसूली की जा रही है, पूर्णतः असंवैधानिक है। इसी क्रम में किसान नेता ने अपने निजी एवं अत्यंत विश्वसनीय सूत्रों से प्राप्त तथ्यों के आधार पर डिबाई नगर एवं देहात क्षेत्र के कुछ निजी स्कूलों पर सीधा आरोप लगाया है कि डिबाई नगर में संचालित रजनी पब्लिक स्कूल ने लगभग 70 लाख रूपये, इन्टैक पब्लिक स्कूल ने लगभग 50 लाख रूपये जबकि जगदीश पब्लिक स्कूल ने लगभग 45 लाख रूपये की अवैध फीस वसूली की है। उक्त ज्ञापन के माध्यम से जनहित में भारतीय किसान यूनियन (किसान शक्ति) यह मांग करती है कि तत्काल प्रभाव से अभिभावकों का आर्थिक/मानसिक शोषण समाप्त कराते हुये निजी स्कूलों पर जांच कराकर न्यायसंगत कार्यवाही कर सभी छात्र-छात्राओं की फीस माफ करायी जाये। जोकि निजी विद्यालय अवैध फीस वसूली में मनमाने कर रहे है। यदि समय रहते छात्र-छात्राओं की निजी विद्यालयों द्वारा फीस माफ नहीं की जाती है तो भारतीय किसान यूनियन (किसान शक्ति)  के सभी पदाधिकारी जनपद मुख्यालय पर धरना-प्रर्दशन करने को बाध्य होंगे ,जिसकी जिम्मेदारी एवं सम्पूर्ण दायित्व शासन-प्रशासन का होगा। ज्ञापन सौपने के दौरान राष्ट्रीय संगठन महामंत्री गजेंद्र शर्मा, बिट्टी गौड़, सुरेन्द्र सिंह, महावीर, जितेंद्र कुमार, दिलीप गुप्ता भट्टे वाले आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

 44 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *