भाजपा प्रत्याशी के नामांकन पत्र वापसी से पार्टी कार्यकर्ता बेहद नाराज़

भाजपा प्रत्याशी के नामांकन पत्र वापसी से पार्टी कार्यकर्ता बेहद नाराज़

संगठन के लोगों ने प्रतिद्वंदी से साठगांठ कर नामांकन पत्र वापस लेने का लगाया आरोप
चुनाव में नहीं माँगा सहयोग, पार्टी के लोगों पर लगाये थे निराधार आरोप, निष्कासन की मांग की
गुलावठी/बुलन्दशहर
। भाजपा द्वारा गुलावठी ब्लॉक प्रमुख पद पर घोषित किये गए प्रत्याशी किरनपाल सिंह के खिलाफ पार्टी के कार्यकर्ताओं में गुस्सा पनप रहा है। आरोप है कि किरनपाल सिंह ने चुनाव में किसी भी कार्यकर्ता या पदाधिकारी से संपर्क नहीं किया, ना सहयोग मांगा और खुद नामांकन करने के बाद फिर अपना पर्चा वापिस ले लिया। जिसके बाद नेहा यादव निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख निर्वाचित हो गई। इससे पार्टी की गरिमा को नुकसान पहुंचा है।
भाजपा समर्थित प्रत्याशी किरनपाल सिंह ने संगठन के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं पर आरोप लगाया था कि संगठन के अधिकतर लोग उनके खिलाफ हैं। पार्टी कार्यकर्ता उनके इस आरोप से खुद को अपमानित महसूस कर रहे हैं। उनकी मांग है कि किरनपाल सिंह को तत्काल पार्टी से निष्कासित किया जाना चाहिए। इसी मामले को लेकर गुलावठी ग्रामीण मंडल अध्यक्ष हरेन्द्र यादव के निजी आवास गांव औलेढ़ा में भाजपा के मंडल कार्यकारणी के कार्यकर्ताओं ने बैठक की और किरनपाल सिंह के खिलाफ विरोध जाहिर करते हुए नाराज़गी जताकर घोर निंदा की। बैठक में शामिल लोगों ने किरनपाल सिंह पर उनके प्रतिद्वंदी निर्दलीय प्रत्याशी नेहा यादव से समझौता करके टिकट वापस लेने का भी आरोप लगाया। इसी क्रम में मंडल अध्यक्ष हरेंद्र यादव ने अपनी कार्यकारिणी के साथ भाजपा के वरिष्ठ पदाधिकारियों से किरनपाल सिंह को पार्टी से निष्काषित करने की मांग की। बता दें किरनपाल सिंह पूर्व में गुलावठी ब्लॉक के प्रमुख रहे हैं। बैठक में नवीन तेवतिया, जीत प्रधान, जितेन्द्र तेवतिया, संदीप तेवतिया, मुदित मोहाना, हरेन्द्र यादव, अभय तेवतिया, प्रमोद शर्मा, चमन यादव, तनुज कुमार, विकास तेवतिया, रणवीर सिंह, ईमरान चौहान, दीपक यादव आदि शामिल रहे

 224 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *