भाकियू ने चल रहे धरने को छः माह पूरे होने पर मनाया काला दिवस

भाकियू ने चल रहे धरने को छः माह पूरे होने पर मनाया काला दिवस

बुलन्दशहर/खुर्जा। भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष अनिल कुमार उर्फ बब्बन प्रधान के नेतृत्व में गांव मदनपुर कला पर किसान एकत्र हो गए। जहां कृषि कानून को लेकर चल रहे धरने को छः माह का समय पूरा होने पर काला दिवस मनाया गया। इस दौरान किसानों के हाथों में काले झंडे थे। उन्होंने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। साथ ही उन्होंने कृषि कानून का विरोध किया। बब्बन चौधरी ने कहा कि गेहूं क्रय केंद्रों पर महज 300 कुंतल प्रतिदिन गेहूं की तुलाई हो रही है, जिसको लेकर किसान परेशान हैं। उन्होंने तहसीलदार शिवौतार सिंह को ज्ञापन सौंपा। इसमें तारिक, पुष्पेंद्र, प्रेमपाल सिंह, जल सिंह, कपिल कुमार, रघुनाथ, केहर सिंह आदि रहे।
भाकियू ने काले झंडे लहराकर भारत सरकार का पुतला किया दहन
संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर बुधवार को केंद्र सरकार के विरोध में भारतीय किसान यूनियन द्वारा नगर के कारगिल शहीद दाताराम चौक पर काले झंडे लहराते हुए भारत सरकार का पुतला दहन किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने भारत सरकार से काला कानून वापस लेते हुए एमएसपी पर कानून बनाने की मांग की। वहीं कार्यकर्ताओं द्वारा मोदी सरकार मुर्दाबाद के नारे भी लगाए गए। मेरठ मंडल सचिव कौलाश भागमल गौतम ने जानकारी देते हुए बताया कि संगठन के एनसीआर महासचिव मांगेराम त्यागी के आहवान पर कार्यकर्ता 30 मई को तहसील खुर्जा पर केंद्र सरकार का पुतला दहन करेंगे। वहीं जनपद बुलन्दशहर में पुलिस द्वारा कार्यकर्ताओं के साथ बदसलूकी को लेकर प्रत्येक तहसील पर सात दिन तक तथा आठवें दिन बुलन्दशहर काला आम चौराहे पर केंद्र सरकार का पुतला दहन किया जाएगा। कार्यकर्ताओं में मेरठ मंडल सचिव कैलाश भागमल गौतम, विजय सिंह, सुरेश, जगदीश, कालीचरण, मुकेश, कंछी सिंह, दीपक कुमार, अश्वनी, नीरज, कपिल, रोहित मौजूद रहे।

 106 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *