बेमौसम बरसात से ईंट-भट्टों के संचालकों का हुआ भारी नुकसान

बेमौसम बरसात से ईंट-भट्टों के संचालकों का हुआ भारी नुकसान

कच्ची ईंटों के पानी में डूबने से भट्टा संचालकों की टूटी कमर
बुलन्दशहर।
देश के दक्षिण में आए भारी तूफान के कारण विगत तीन-चार दिनों से हो रही बेमौसम मूसलाधार बरसात से लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है ,जिससे सभी व्यापारियों को बहुत नुकसान हुआ है और अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है, जिसमें सबसे अधिक भट्टा व्यापारियों को आर्थिक क्षति होने का अनुमान लगाया गया है। बारिश के कारण सभी भट्टे पानी में डूब गए हैं, कच्ची ईंट पानी में बह गई हैं,जिससे अब भट्टा चलाने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ेगा तथा हुए नुकसान की भरपाई होना काफी मुश्किल दिखाई दे रहा है। जनपद ईट निर्माता समिति के मीडिया प्रभारी संजय गोयल द्वारा बताया गया कि बेमौसम बरसात ने भट्टा संचालकों की कमर ही तोड़ दी है। लॉकडाउन के चलते बिक्री तो पहले से ही प्रभावित थी ,जिससे ईंट पकाने के लिए ईंधन के लिए पैसे हों या अपनी भट्टों की लेवर को खर्चा देने की जरूरत हो, भट्टा स्वामी पैसे नहीं जुटा पा रहा था। अब ऊपर से इस बेमौसम बरसात ने भट्टों पर खुले आसमान के नीचे रखी कच्ची ईंटों को पूरी तरह से नष्ट कर दिया है ,जिससे प्रत्येक भट्टा स्वामी को लाखों का नुकसान हुआ है। भट्टा उद्योग पर मार्च से ग्रहण सा लग गया है। भट्टा संचालकों को अपनी जीविका चलाना भी मुश्किल हो गया है।इस बेमौसम बरसात से भट्टा व्यापारियों को हुए नुकसान पर प्रशासन द्वारा उचित कदम उठाए जाने चाहिए तथा उन्हें भट्टा चलाने में कुछ आर्थिक सहायता एवं कुछ छूट देनी चाहिए, जिससे कि सभी व्यापारी अपना व्यापार अच्छे से चला सके। इस बरसात से भट्टा व्यापारियों को हुई आर्थिक समस्याओं में जिला प्रशासन सहयोग करें ,जिससे कि वे अपनी आजीविका चलाने के लिए भट्टे को संचालित कर सकें।

 258 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *