बीहरा सोसाइटी पर नहीं लिया जा रहा किसान का गेहॅू

बीहरा सोसाइटी पर नहीं लिया जा रहा किसान का गेहॅू

सोसाइटी के चेयरमैन व कर्मचारी कर रहे मनमानी
औरंगाबाद/बुलन्दशहर।
बीहरा सोसाइटी के कर्मचारी प्रशासन के आदेशों को ठेंगा दिखा रहे है। बारदाने की कमी बताकर गेहॅू की खरीद नहीं कर रहे। खुले आसमान तले ट्रॉली में लदे गेहूं को बारिश में भीगने का किसानों को डर सता रहा है। यूं तो राज्य सरकार ने गेहूं खरीद के लिए अंतिम तिथि 15 जून निर्धारित की थी, लेकिन किसानों की समस्याओं को देखते हुए उनकी मांग पर अलग-अलग जनपदों में अंतिम तिथि को बढा दिया गया है। इसी क्रम में बुलन्दशहर प्रशासन ने भी इसे बढाकर 22जून कर दिया है। बावजूद इसके सहकारी समिति के कर्मचारी अपनी मनमानी करते हुए प्रशासन के आदेशों को ठेंगा दिखा रहे हैं।
जनपद के विकास खंड क्षेत्र अगौता के ग्राम बीहरा स्थित सहकारी समिति के कर्मचारियों की मनमानी का मामला सामने आया हैैैै। पीडि़त किसानों ने शिकायत करते हुए बताया कि प्रशासन द्वारा गेहूं की खरीद की तिथि 22जून तक बढ़ाने के बावजूद किसानों के गेहूं की खरीद नहीं की जा रही है। कई किसान पिछले चार-पांच दिन से सोसायटी के बाहर ट्रैक्टर-ट्रॉली में गेहूं लादकर खड़े हुए हैं, जो अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं ,लेकिन कई दिन बीत जाने के बावजूद उनके गेहूं को नहीं तौला जा रहा, ऊपर से खुले आसमान के नीचे होने से बदलते मौसम के कारण हो रही बारिश से भीग जाने का खतरा मंडरा रहा है। किसान जैसे तैसे गेहूं पर पन्नी डालकर गेहूं को भीगने से बचाने का प्रयास कर रहे हैं और दिन-रात वही सोकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। किसानों का आरोप है कि सोसायटी के चेयरमैन अपनी मिलीभगत से केवल अपने जान पहचान वालों के गेहूं की खरीद कर रहे हैं, बाकी किसान हैं वो पिछले कई दिनों से रजिस्ट्रेशन लेकर लाइन में खड़े हुए हैं, लेकिन 4 दिन बीत जाने के बाद भी गेहूं नहीं तौला जा रहा हैं और किसानों का यह भी आरोप है कि उन्हें धमकाया भी गया है कि वह वापस अपने घर चले जाएं। किसानों ने इस बात की शिकायत फोन पर एसडीएम से की तो उन्होंने संबंधित एआरएमओ से बात कर समस्या का समाधान कराने का निर्देश दिया, लेकिन इस मामले पर कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है। बारदाने की कमी बताकर सोसायटी चेयरमैन व कर्मचारी अपना पल्ला झाड़ रहे हैं ,जबकि बीते दिन खुद सचिव ने 10 किसानों के नंबर लगाकर हर हाल में गेहूं तौले जाने का आश्वासन दिया था, फिर भी गेहूं नहीं तौला गया। इसी आस में किसान अपने गेहूं को लेकर बारिश में भीगने को मजबूर है। वहीं किसानों ने कहा कि अगर जल्द ही इस समस्या का समाधान नहीं किया गया तो वह सड़कों पर लेटकर रास्ता जाम कर उग्र आंदोलन करेंगे। इस मौके पर वेद प्रकाश, राजकुमार शर्मा, जबर खान, जावेद अली, नरेश चौहान, रामबाबू, विपिन चौहान, राहुल गुर्जर, बालकिशन, ऐशवीर सिंह, राजवीर सिंह, रामजीलाल, प्रमोद चौहान आदि किसान उपस्थित रहे।

 60 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *