बसी बांगर में जानलेवा साबित हो रहा बुखार, कई लोगों की हो चुकी हैं मौत

बसी बांगर में जानलेवा साबित हो रहा बुखार, कई लोगों की हो चुकी हैं मौत

स्वास्थ्य विभाग ने नहीं ली सुध, डॉक्टर व दवाई नदारद
स्वास्थ्य उपकेंद्र पर लटका ताला, कैसे हो टेस्टिंग
सैंकड़ों मरीजों का दहशत में गुजर रहा प्रतिदिन
बुलन्दशहर।
ब्लॉक ऊँचागांव के ग्राम बसी बांगर में बीते दिनों में बुखार से एक के बाद एक करके अनेक मौतें हो गईं, जिससे गांव के लोगों के दिल-ओ-दिमाग पर भय पसरा है। जानलेवा बीमारी को नियंत्रित करने के लिये स्वास्थ्य विभाग ने अब तक गांव की कोई सुध नहीं ली। गांव के स्वास्थ्य उपकेंद्र पर ताला लटका हुआ है, जहां पर न चिकित्सक की व्यवस्था है और न ही दवाई की। टेस्टिंग के लिये भी गांव में कोई टीम नहीं पहुंची। बुखार से ग्रसित सैंकड़ों लोगों का हर दिन दहशत में गुजर रहा है। जानलेवा बुखार के प्रकोप ने गंगा तटीय गांव बसी बांगर को बुरी तरह अपनी चपेट में ले लिया है। बीते करीब माह भर में बुखार से पूर्व प्रधान सहित अनेक मौत हो चुकी हैं। गांव का हाल जानने पहुंची दर्पण टाइम्स समाचार पत्र टीम को युवा समाजसेवी ताज खान ने बताया कि पूर्व प्रधान इरशाद अंसारी ,उनके भाई इश्तियाक अंसारी और गांव की दो महिलाओं की बुखार से मौत हुई है। ग्रामीणों ने बताया कि उसके बाद भी गांव में स्वास्थ्य विभाग ने कोई सुध नहीं ली। ऐसे हालात में गांव के स्वास्थ्य उपकेंद्र पर भी ताला लटका मिला। गांव में करीब 100-110 मरीज अभी भी बुखार से ग्रस्त हैं, जिनकी न कोई टेस्टिंग हुई और न ही उन्हें उपचार दिया गया। घरों में कैद इन मरीजों का हर दिन दहशत में बीत रहा है। बिना टेस्टिंग बुखार से अचानक मौत हो जाने से लोगों में कोरोना संक्रमण को लेकर डर बना हुआ है। यदि टेस्टिंग के साथ उचित उपचार और सावधानी नहीं बरती गई तो संक्रमण और घातक हो सकता है। उधर ग्रामीणों की बात करे तो प्रशासनिक लापरवाही के चलते ग्रामीण मास्क तक भी नहीं लगा रहे हैं। चाय की दुकानों और नुक्कड़ों पर लगी पंचायतें सोशल डिस्टेंसिंग को भी मुंह चिढाती नजर आईं।

 358 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *