बलात्कार पीडि़ता ने एसएसपी कार्यालय में किया आत्मदाह का प्रयास, मचा हड़कंप

बलात्कार पीडि़ता ने एसएसपी कार्यालय में किया आत्मदाह का प्रयास, मचा हड़कंप


मथुरा। बलात्कार के आरोपी अधिवक्ता के विरुद्ध पुलिस द्वारा कार्रवाई न करने से आहत पीडि़ता ने मथुरा एसएसपी कार्यालय पर पेट्रोल डालकर आत्मदाह का प्रयास किया। समय रहते वहां तैनात पुलिसकर्मी ने बलात्कार  पीडि़ता के प्रयास को विफल कर दिया। घटना से पुलिस मेहकमा में हड़कंप मच गया। एसएसपी कार्यालय पर बार एसोसिएशन के सचिव एवं वरिष्ठ अधिवक्ता पहुंच गए।

जानकारी के मुताबिक मथुरा के थाना हाईवे क्षेत्र निवासी अधिवक्ता युवती ने 7मई ,2021 को थाना हाइवे पर बीएसए कॉलेज मथुरा के अधिवक्ता डीडी चौहान सहित चार आरोपियों के खिलाफ बलात्कार का मुकदमा दर्ज कराया था। लेकिन आरोपियों के प्रभावशाली होने के कारण न तो पीडि़ता का तत्काल डॉक्टरी परीक्षण कराया गया और न ही 164 के बयान दर्ज कराये गये। जिस पर पीडि़ता ने 13 मई 2021 को एसएसपी मथुरा को पत्र लिखकर आरोपियों से पुलिस द्वारा सांठगांठ कर डॉक्टरी परीक्षण एवं गिरफ्तार न करने का आरोप लगाया था तथा पत्र में चेतावनी दी गई थी कि अगर तत्काल आरोपी गिरफ्तार नहीं किये गये तो वह कार्यालय पर आत्मदाह कर लेगी। आत्मदाह की चेतावनी के बाद पीडि़ता का डॉक्टरी परीक्षण कराकर पुलिस ने न्यायालय में 164 के बयान दर्ज करा दिये, लेकिन आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की गई। आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर पीडि़ता पिछले 20 दिन से थाने से लेकर एसएसपी कार्यालय एवं पुलिस अधिकारियों के चक्कर लगा रही थी, लेकिन आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया गया। गुरूवार को भी पीडि़ता ने एसएसपी से मुलाकात करने का प्रयास किया था ,लेकिन मुलाकात नहीं हो सकी। शुक्रवार को दोपहर करीब 11.30 बजे बलात्कार पीडि़ता हाथ में पेट्रोल से भरा डिब्बा और माचिस लेकर एसएसपी कार्यालय में घुस गई और उसने अपने ऊपर पैट्रोल से भरा डिब्बा उड़ेल लिया। जैसे ही माचिस की तीली जलाने का प्रयास किया ,तभी कार्यालय में ड्यूटी पर तैनात सुरेन्द्र सिंह नामक पुलिसकर्मी की निगाह महिला पर पड़ी और उसने अन्य सहकर्मियों के सहयोग से युवती के हाथ से डिब्बा और माचिस को छीन लिया तथा कार्यालय के अन्दर से जहां अन्य पुलिस कर्मी आ गये। इस दौरान पीडि़ता ने चीख-चीख कर आरोप लगाया कि पुलिस तीन लाख रुपये लेकर आरोपियों को बचा रही है। घटना की जानकारी होने पर मथुरा बार एसोसिएशन के अध्यक्ष सुशील शर्मा, सचिव सुनील चतुर्वेदी एसएसपी कार्यालय पहुंचे और पीडि़ता को समझाने का प्रयास किया। एसोसिएशन के सचिव सुनील चतुर्वेदी ने कहा कि अन्य लोगों के बहकावे में आकर महिला ने इस तरह का आत्मघाती कदम उठाया है। पुलिस इस मामले में आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई कर रही है।

 212 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *