बरसात में मच्छर/वायरसजनित रोगों से रोकथाम हेतु संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान तथा कोविड टीकाकरण की प्रगति के संबंध में सीएम ने दिए निर्देश

बरसात में मच्छर/वायरसजनित रोगों से रोकथाम हेतु संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान तथा कोविड टीकाकरण की प्रगति के संबंध में सीएम ने दिए निर्देश

वेक्टर बोन डिसीज से रोकथाम हेतु विशेष उपाय एवं प्रबन्ध सुनिश्चित किये जाने के निर्देश दिए
कोविड की सम्भावित तीसरी वेव के दृष्टिगत स्वच्छता, सेनिटाइजेशन एवं फोगिंग तथा औषधि/चिकित्सीय उपकरणों की उपलब्धता पर विशेष फोकस किया जाए
बुलन्दशहर।
मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में आहूत की गई वीडियो कान्फ्रेंस में आगामी वर्षाकाल की अवधि में मच्छर/वायरसजनित रोगों से रोकथाम हेतु संचारी रोग नियन्त्रण एवं दस्तक अभियान तथा कोविड टीकाकरण की प्रगति/तैयारियों के संबंध में महत्वपूर्ण निर्देश दिये गये। बताया गया कि आगामी माह में 01 जुलाई, 2021 से संचारी रोग नियन्त्रण एवं दस्तक अभियान शासन के निर्देशो के अनुसार विगत वर्षो की भांति चलाया जाएगा। इस संबंध में वेक्टर बोन डिसीज से रोकथाम हेतु विशेष उपाय एवं प्रबन्ध सुनिश्चित किये जाने के निर्देश दिये गये। ग्राम विकास विभाग, जिला पंचायती राज विभाग एवं नगर निकाय के अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि झाडियों की तत्काल छंटाई/सफाई करायी जाए, उथल हेंड पम्पों का लाल रंग से चिन्हिकरण किया जाए। हेंड पम्पों के प्लेटफार्म दुरूस्त कराये जाएं। खुली नालियों को कवर कराया जाए तथा शुद्ध पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। ग्रामीण क्षेत्रों में तालाबों को अपशिष्ट तथा प्रदूषण से मुक्त कराया जाए। मानसून काल के दौरान विशेष सफाई व्यवस्था बनाये रखने हेतु पब्लिक एड्रेस सिस्टम से व्यापक प्रचार/जनजागरण किया जाए। ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में सृजित निगरानी समितियों एवं जनप्रतिनिधियों के माध्यम से जनजागरण तथा मेडिसिन किट वितरण कराया जाए। बाल विकास विभाग के माध्यम से आगनवाडी कार्यकत्रियों से कुपोषित बच्चों की पहचान सुनिश्चित कराते हुए उनके भरण पोषण की व्यवस्था एवं स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से उनके समुचित उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। साथ ही आशा एवं ए0एन0एम0 के माध्यम से भी संचारी रोगों से बचाव हेतु उपायों की जानकारी जनसामान्य को दिलायी जाए, ताकि लोगों में जागरूकता आये और वह अपने परिवारजन को बीमारी के प्रकोप से सुरक्षित रख सकें। इस कार्य में कर्मियों की ड्यूटी लगाकर मच्छरजनित बीमारियों की परिस्थितियों को पैदा करने वालों के विरूद्ध कार्यवाही भी की जाए। दस्तक अभियान में लगे कर्मियों के माध्यम से लोगों को सतर्कत बरतने, तथा घर-घर जाने वाली टीम के माध्यम से औषधि वितरण सुनिश्चित कराया जाए। कर्मियों का प्रशिक्षण समय से सुनिश्चित करा लिया जाए। कोविड संक्रमण के संबंध में सम्भावित तीसरी वेव के दृष्टिगत स्वच्छता, सेनिटाइजेशन एवं फोगिंग तथा औषधि/चिकित्सीय उपकरणों की उपलब्धता पर विशेष फोकस किया जाए। बच्चें के लिये पीड्रियाटिक आई0सी0यू0 की स्थापना एवं स्वास्थ्य संबंधी उपकरणों/औषधियों की उपलब्धता समयबद्धता निर्धारित करते हुए सुनिश्चित की जाए। वैक्सिनेशन का कार्य और तेजी से कराये जाने हेतु कार्ययोजना बनाकर लोगों में जनजागरूकता लाते हुए सुनिश्चित किया जाए। स्वास्थ्य विभाग/नोडल विभाग निर्देषित किया गया कि जनपद हेतु ग्रामीण क्षेत्रों में कार्ययोजना बनाकर गंदा पानी जमा न होने देने, स्वच्छता शुद्ध पेयजल आपूर्ति, एंटी लार्वा स्प्रे, औषधि वितरण तथा तालाबों में अपशिष्ट व प्रदूषित पानी जमा न होने देने आदि कार्यो को सुनिश्चित कराने तथा विकास संबंधी विभागों में समन्वय हेतु जिला विकास अधिकारी को तथा नगर निकायो में कार्यो के पर्यवेक्षण डिप्टी कलेक्टर को नोडल अधिकारी बनाये जाने हेतु प्रस्ताव तत्काल प्रस्तुत किया जाए। वीसी में जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार, सीएमओ डॉ0 भवतोष शंखधर, अपर जिलाधिकारी प्रशासन रवींद्र कुमार, डीडीओ सहित संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

 100 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *