पुलिस और भाजपा समर्थकों को दौड़ाने का वीडियो हो रहा वायरल

पुलिस और भाजपा समर्थकों को दौड़ाने का वीडियो हो रहा वायरल

प्रत्याशी को जबरन गाड़ी में बैठाने पर ग्रामीण हुये आग बबूला, किया पथराव
पथराव में पुलिस जीप के शीशे टूटे, सिपाही चालक हुआ चुटैल
बुलन्दशहर।
आज ब्लॉक प्रमुख पद के लिये निर्वाचन होना है और प्रत्याशियों ने अपने-अपने नामांकन भी कर दिये। जिले में कुछेक जगहों पर सत्ताधारी पार्टी के नुमाइंदों ने नामांकन तक नहीं जमा होने दिये, जिसके लिये कही हंगामा हुआ तो कही स्थिति मारपीट की आ गई तो कही पर पुलिस ने भाजाईयों के साथ मिलकर प्रत्याशी को ही अगवा कर लिया। ऐसा ही एक प्रकरण शिकारपुर ब्लॉक पर देखने को मिला, जहां पुलिस एवं भाजपा समर्थकों ने एक प्रत्याशी को जबरन अपनी गाड़ी में बैठा लिया और चल दिये, मगर यहां ग्रामीण आक्रोशि हो उठे और उन्होंने गाड़ी पर पथराव तक कर दिया। पथराव में पुलिस जीप क्षतिग्रस्त हो गयी और सिपाही चालक भी चोटिल हो गया। प्रकरण को गंभीर समझकर आला अधिकारियों ने मौके पर पहंुचकर स्थिति को नियंत्रण में किया और सुरक्षा की दृष्टि से गांव में भारी पुलिस बल तैनात कर शिकारपुर ब्लॉक परिसर को छावनी बना दिया हैै। फिलहाल गांव में शांति बनी हुई। आलाधिकारियों द्वारा पल पल की खबर ली जा रही है।
बता दें कि पुलिस और भाजपा समर्थकों का दौड़ाने का वीडियो वायरल हो रहा है, वायरल वीडियो में ग्रामीणों की भीड़ पुलिस की गाड़ी में युवक से मारपीट करती दिख रही है। उधर सपा-रालोद की संयुक्त प्रत्याशी मोनिका देवी ने दावा किया कि उन्हें पुलिस व भाजपा समर्थक उठाकर ले जाने के लिए गांव पहुंचे थे और उन्हें ले जाने में कामयाब भी हुई पुलिस। यह दावे संयुक्त प्रत्याशी ने लगाए। प्रत्याशी का दावा कि कुछ फार्मों पर दस्तखत कराने के बाद पुलिस ने उन्हें छोड़ा है। इस बीच ग्रामीणों ने अपने प्रत्याशी को छुड़ाने हेतु पुलिस और समर्थकों को जमकर दौड़ाया यहां तक कि एक युवक ने पुलिस की गाड़ी में छिपकर अपनी जान बचाई।पुलिस की गाड़ी में छिपा युवक राज्यमंत्री का समर्थक बताया जा रहा है। गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिस की गाड़ी में छिपे राज्यमंत्री के समर्थक की जमकर पिटाई की। पुलिस और भाजपा समर्थकों को गुस्साए ग्रामीणों से भागकर अपनी जान बचानी पड़ी। वायरल वीडियो में हंगामा जमकर होता दिख रहा है। इसके बाद पुलिस चप्पे-चप्पे पर तैनात दिखाई दिखी। छोड़े जाने के बाद प्रत्याशी ने अपना बयान भी सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। सत्ता के दवाब में पुलिस पर पार्टी बनने का भी आरोप है। बता दें कि शिकारपुर ब्लॉक से सपा-रालोद की संयुक्त प्रत्याशी मोनिका सिंह है और वायरल वीडियो सलेमपुर थाना क्षेत्र के गांव मुकेरा का बताया जा रहा है। प्रत्याशी पति हुकम सिंह ग्रामीणों के साथ ब्लॉक परिसर में पहुँचे ,जहाँ पर एसडीएम व सीओ से वार्ता की गई और जो नाम वापसी के लिये दबाब बनाया जा रहा था ,उसको लेकर जमकर हंगामा हुआ। हंगामा देखकर आसपास के थानों का पुलिस फोर्स भी तैनात किया गया ,फिर एसडीएम के आश्वासन के बाद प्रत्याशी संतुष्ट हुई, अब वह चुनाव लड़ेगी। आज बीडीसी सदस्यों द्वारा ब्लॉक में मतदान किया जायेगा।
हरेन्द्र कुमार, एसपी देहात उवाच
मोनिका सिंह को सुरक्षा मुहैया कराई गई थी, लेकिन कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा पुलिस की गाड़ी पर पथराव किया गया है ,जिसमें पुलिस चालक के चोट लगी है, पथराव करने वालों लोगों को चिन्हित कर वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।
मोनिका सिंह, रालोद-सपा संयुक्त प्रत्याशी उवाच
मेरे ऊपर सत्ताधारी दल के नेताओं एवं कुछ सरकारी मशीनरी के लोगों ने भी नाम वापस करने का दबाव बनाया था ,लेकिन मैंने साहस के साथ कार्य करते हुए मना कर दिया और अब में पूर्ण रूपेण चुनाव लडूंगी।

 338 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *