पातालेश्वर महादेव मंदिर में स्थापित होंगे पौराणिक शिवलिंग एवं नंदी महाराज

पातालेश्वर महादेव मंदिर में स्थापित होंगे पौराणिक शिवलिंग एवं नंदी महाराज

फरीदपुर में स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद जी महाराज ने किया मंदिर का शिलान्यास
11वीं सदी में निर्मित शिवलिंग व नंदी का स्वरूप करीब 1200वर्ष प्राचीन
घरौंडा।
जिला करनाल के उपमंडल घरौंडा के गांव फरीदपुर में जमीन के नीचे 40 फिट गहराई से मिले पौराणिक शिवलिंग व नंदी महाराज पातालेश्वर महादेव मंदिर में स्थापित होंगे। 11वीं सदी में निर्मित शिवलिंग व नंदी का स्वरूप  करीब 1200 वर्ष प्राचीन है। यहाँ शिलान्यास करने पहुंचें स्वामी अविमुक्तेशवरानन्द ने कहा कि हरियाणा के लोग धन्य जो प्राचीन मूर्तियों के लिए मंदिर का निर्माण कर रहे है। केंद्र सरकार प्रहार करते हुए स्वामी ने कहा कि कारीडोर के लिए काशी के पौराणिक मंदिरों व मूर्तियों को तोडने का काम किया है। धर्मरक्षा के लिए मजबूरन पुलिस थाने में रखी 267 मूर्तियों की पूजा की जा रही है।
फरीदपुर गांव के पास करीब डेढ़ वर्ष पूर्व खुदाई के दौरान शिवलिंग, नंदी महाराज की मूर्ति व मंदिर की शिलाएं मिली थी। पुरातत्व विभाग ने इन मूर्तियों और कलाकृतियों को भोजकाल में निर्मित बताया था। जिससे अनुमान लगाया गया कि शिव के इस मंदिर का निर्माण 11वीं या 12वीं में हुआ होगा। भूगर्भ से निकले शिवलिंग अब पातालेश्वर महादेव के नाम से मंदिर में विराजमान होंगे। फरीदपुर गांव में बनने वाले इस मंदिर का शिलान्यास स्वामी अविमुक्तेशवरानन्द सरस्वती महाराज, राज्य कांग्रेस प्रभारी विवेक बंसल व कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव वीरेंद्र सिंह राठौर ने अपने करकमलों से किया। मंदिर के गर्भ गृह का निर्माण शुरू करते हुए पांच शिलाएं रखी गई। उम्मीद जताई जा रही है कि आगामी एक वर्ष में मंदिर का निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा। स्वामी अविमुक्तेशवरानन्द ने कहा कि जब भी धर्म को हानि पहुंचाई जाती है तब प्राकृतिक विपदाएं आती है। आज कोरोना महामारी के कारण पूरे देश में त्राहि-त्राहि मची हुई है। लोग दुवेक्षण, मरण और भय तीन तरह की स्थितियों से घिरे हुए है। देश को महामारी से निकालने के लिए विभिन्न स्थानों पर शंकराचार्य मठ के द्वारा अखंड ज्योति जगाई जा रही है, इसी कड़ी में फरीदपुर गांव के पातालेश्वर महादेव मन्दिर स्थल पर अखंड ज्योति जलाई गई।  
वितल लोक से प्रकट हुए है पातालेश्वर महादेव-अविमुक्तेशवरानन्द
फरीदपुर गांव में पौराणिक शिवलिंग के दर्शन उपरांत स्वामी अविमुक्तेशवरानन्द ने कहा कि ये विग्रह दिव्य और धार्मिक महत्व से पूर्ण है। उन्होंने कहा कि शिवपुराण में भूलोक से नीचे सात लोक बताए गए है। दूसरे तल का नाम वितल है और शिवलिंग का यह स्वरूप वितल लोक से अवतरित हुआ है। अविमुक्तेशवरानन्द ने बताया कि वितल लोक में भगवान शिव पार्वती के साथ विचरण करते है और उनके शरीर से सोने के किरणें निकलती हैं। भूमि के नीचे से मिलने वाला सोना शिव से निकलने वाली सुनहेरी किरणों से बनता है। इस मौके पर कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव वीरेंद्र सिंह राठौर ने कहा कि पातालेश्वर मंदिर का भव्य निर्माण किया जाएगा। इसके निर्माण में कोई कमी नही आने दी जाएगी।
सरकार कोरोना से निपटने में विफल रही- विवेक बंसल
विवेक बंसल ने आज कोरोना महामारी के कारण भय का साया चारों तरफ मंडरा रहा है। ऐसे भय भरे माहौल में भगवान शिव की कृपा से आज का दिन बेहद पावन और ऐतिहासिक है। भगवान् की कृपा से ही मानव जाति पर आया यह संकट दूर होगा। विवेक बंसल ने सरकार पर निशाना लगाते हुए कहा कि कोरोना महामारी से लोगों को बचाने में सरकार पूरी तरह से विफल साबित हुई है। डाक्टरों व विशेषज्ञों की सलाह और चेतावनियों के बाद भी सरकार ने समय रहते लोगों के स्वास्थ्य के लिए कदम नहीं उठाए। जिसका परिणाम है कि आज आम आदमी जीवन रक्षक दवाओं और आक्सीजन की कमी जैसी दिक्कतों के कारण मर रहा है।इस मौके पर सामाजिक कार्यकर्ताओं, नेताओं व पत्रकारों को उत्कृष्ठ सेवाओं के लिए सम्मानित किया गया। गूगल बॉय कौटिल्य, महाबली खली, अधिवक्ता भूपेंद्र सिंह राठौर के इलावा पत्रकार डॉ.प्रवीण कौशिक, विकास सुखीजा,कृष्ण कुमार ,सुशील कौशिक, महेंद्र सिंह,पवन अग्रवाल को भी स्वर्णज्योति महासम्मान से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर असंध विधायक शमशेर सिंह गोगी, पूर्व मंत्री भीमसेन मेहता, पूर्व विधायक बंताराम वाल्मीकि, रेसलर द ग्रेट खली दिलीप सिंह राणा व मंदिर कमेटी के सदस्य मौजूद रहे।

 554 total views,  8 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *