पर्यावरण की एनओसी के बिना भी लगा सकेंगे आक्सीजन प्लांट

पर्यावरण की एनओसी के बिना भी लगा सकेंगे आक्सीजन प्लांट

बुलन्दशहर। प्रदेश मे हो रही ऑक्सीजन की समस्या से निपटने के लिए सरकार ने बडा फैसला किया है। यदि प्रदेश मे कोई इंडस्ट्री मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट लगाना चाहती है तो उसे राहत दी गई है, इन्हें केवल निवेश मित्र पोर्टल पर आवेदन करना होगा। उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की एनओसी का इंतजार किए बगैर वे मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट लगा सकेंगे। ऑक्सीजन गैस उत्पादन की प्रदेश मे स्थित इकाइयां भी अब आसानी से अपने प्लांट का विस्तार कर सकेगी। उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने इसके आदेश जारी कर दिए है। ऑक्सीजन की किल्लत को देखते हुए योगी सरकारी ने इससे निपटने के लिए कई मोर्चे पर एक साथ काम शुरू किया है। इसी के तहत प्रदेश में ऑक्सीजन बनाने वाली इकाइयां को अपने यहां विस्तार के लिए नियम आसान कर दिए है। साथ ही प्रदेश मे कोई नया प्लांट लगाना चाहता है तो उसके लिए भी प्रकिया आसान कर दी है। प्रदेश मे कोरोना संक्रमित मरीजो को जीवन रक्षक ऑक्सीजन गैस मिलने में कोई दिक्कत न हो ,इसलिए यह निर्णय लिया गया है। बोर्ड के सदस्य आशीष तिवारी ने बताया कि प्रदेश मे मेडिकल ऑक्सीजन की जो इंडस्ट्री पहले से मौजूद है, यदि वे अपने यहां विस्तार करना चाहती है या फिर मेडिकल ऑक्सीजन की नई इंडस्ट्री लगाना चाहती है उन्हे सिर्फ निवेश मित्र पोर्टल पर आवेदन कर फीस जमा करनी होगी।

 420 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *