परिवार में जमीन को लेकर हुआ खूनी संघर्ष, घटना के चलते 01 की मौत, 6 घायल

परिवार में जमीन को लेकर हुआ खूनी संघर्ष, घटना के चलते 01 की मौत, 6 घायल

प्रकरण में दरोगा निलंबित, दो सिपाही लाइन हाजिर
स्याना/बुलन्दशहर।
आज जमीन के टुकड़े का विवाद इस कदर बढ़ा कि पारिवारिक संघर्ष की वजह बन गया। खूनी संघर्ष में एक वृद्ध की जान चली गई, जबकि महिलाओं सहित चार लोगो को भी चोटें आई हैं।एसएसपी ने घटना के लिए प्रभारी थानाध्यक्ष/हलका प्रभारी की लापरवाही मानते हुए उन्हें निलंबित कर दिया तथा दो कांस्टेबल भी लाइन हाजिर किए गए हैं। मृतक के पुत्र की तहरीर पर 6 महिलाओं सहित 11 के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है।
जमीन के टुकड़े को लेकर एक ही परिवार के मध्य हुए उक्त खूनी संघर्ष की घटना स्याना सीओ सर्किल के थाना खानपुर क्षेत्रांतर्गत ग्राम नंगला आलमपुर में बुधवार को सुबह घटी। वादी प्रेमचंद पुत्र पुन्ना सिंह ने खानपुर पुलिस को दी तहरीर में बताया कि मंगलवार की सुबह धर्मवीर पुत्र हरलाल, राकेश पुत्र हरलाल, राहुल पुत्र धर्मवीर, पवन पुत्र राकेश, आशा पुत्री धर्मवीर, कमला पत्नी धर्मवीर, अनीता पत्नी राकेश, भूरी पुत्री राकेश, प्रवेश पुत्र धर्मवीर, सोनम पुत्री राकेश व ममता पुत्री धर्मवीर ने एक राय होकर लाठी-डंडों धारदार हथियारों से उसके परिवार पर हमला कर गंभीर चोटें पहुंचाई थीं। पीडि़त परिवार मंगलवार को ही खानपुर थाने पर पहुंचा तथा तहरीर देकर पुलिस से कार्रवाई की मांग की, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। प्रेमचंद ने दर्ज कराया है कि बुधवार की सुबह आरोपितजन उसके घर आकर गाली-गलौज करने लगे, जिसका उसके पिता पुन्ना सिंह पुत्र हरलाल ने विरोध किया। आरोप है कि आरोपितजन ने तलवार, चाकू, छुरा धारदार हथियारों से हमला कर दिया। हमले में प्रेमचंद के पिता पुन्ना सिंह, माता सुंदरी, बहन आरती, भाई पप्पू व सुखवीर को गंभीर चोटें आईं। यह भी कि आरोपितजन घटना को अंजाम देकर जान की धमकी देते हुए फरार हो गए। घटना के विषय में एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि पुन्नासिंह, राकेश व धर्मवीर सगे भाई हैं। जमीन के एक टुकड़े को लेकर उनका आपस में विवाद है। राकेश व धर्मवीर एक पक्ष तथा पुन्नासिंह दूसरा पक्ष है। जमीन पर पुन्ना सिंह मिट्टी डाल रहा था, जिसको लेकर दोनों पक्षों में मारपीट हो गई तथा चोट लगने के चलते पुन्ना सिंह की मौत हो गई, जबकि उसके बेटे-बहू सहित 6 को सामान्य चोटें आईं तथा वे खतरे से बाहर हैं। बताया कि मंगलवार को भी दोनों पक्षों में झगड़ा हुआ था। खानपुर थानाध्यक्ष अवकाश पर थे तथा थाने का प्रभार उपनिरीक्षक शैलेंद्र सिंह जादौन पर था, जोकि नंगला आलमपुर क्षेत्र से संबंधित हलका प्रभारी भी हैं। अपेक्षित कार्रवाई न किए जाने के चलते एसएसपी ने एसआई शैलेंद्र सिंह जादौन को निलंबित तथा हलके से संबंधित दो सिपाहियों को लाइन हाजिर कर दिए जाने की जानकारी मीडिया को दी। एसएसपी ने बताया कि प्रकरण की प्रारंभिक जांच कराई जा रही है कि रात्रि में अवकाश से वापस थाना खानपुर पहुंचे थानाध्यक्ष ने प्रकरण के विषय में क्या कदम उठाया? बुधवार को हुए खूनी संघर्ष की घटना के बाद एसएसपी सहित एसपी सिटी व पुलिस क्षेत्राधिकारी अलका सिंह भी मौके पर पहुंची। मालूम हो कि एसआई शैलेंद्र सिंह जादौन स्याना से खानपुर स्थानांतरण के बाद से ही विवादित चल रहे थे। उनकी कार्य प्रणाली लोगों के गले नहीं उतर रही थी। नंगला आलमपुर की घटना उनके निलंबन का कारण बन गई।

 268 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *