नई सिम के नंबर से पटाए जा रहे जिला पंचायत सदस्य

नई सिम के नंबर से पटाए जा रहे जिला पंचायत सदस्य

बुलन्दशहर। जिला पंचायत सदस्य को लुभाने के लिए सत्ताधारी पार्टी के नेताओं ने नई तरकीब निकाली है। उन्होंने नए सिम खरीदकर इन्हीं नंबरों से जीत कर आए निर्दलीय जिला पंचायत सदस्यों को लुभाने में लगे हैं। अभी बात नही बन पा रही है। निर्दलीय जिला पंचायत सदस्यों ने भाजपा के एक कद्दावर नेता से बता तो कर ली ,लेकिन सही  जवाब नहीं दिया। भाजपा के कई नेताओं के पेट में जिला पंचायत अध्यक्ष पद को लेकर एक अजीब सा मीठा दर्द है। परिणाम क्या आएंगे? मगर यह कहना सही रहेगा कि जिला पंचायत के चुनाव में सत्ताधारी पार्टी को बहुत बुरी हार मिली है। पूर्व में रहे जिला पंचायत अध्यक्ष ने एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है और स्वयं को जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर भी देखना चाहता है। अपनी गोटी ऐसी फैला रखी है कि भाजपा के कद्दावर नेता और भाजपा में आए दलबदलू जो ऊंचे पदों पर बैठे हुए हैं, वह भी समय आने पर खरीदे जाएंगे। अगर चर्चाओं की बात करें तो भाजपा कार्यालय में यह चर्चा भी सुनने को मिल रही है कि भैया अबकी बार तो करोड़ों देने पड़ेंगे ,अब देगा तो वही ,जिसमें पैसे जोड़ रखे होंगे और जोड़ने वाले कई लोग हैं ,जो अपनी निधि का पैसा भी खाकर बैठे हुए हैं। वे चाहे सांसद हो या विधायक उनके पास तो विकास में लगाया गया पैसा कमीशन भी मोटा आया होगा। परिणाम आने के बाद यह तो स्पष्ट हो गया है कि बहुमत की संख्या 27 तक कोई भी दल नहीं पहुंच पाया जबकि निर्दलीय चुनाव जीतकर उभरे जनपद के प्रथम नागरिक सीट उनके खाते में आ जाए। सत्ताधारी दल भाजपा के पास कुल 10सदस्य हैं तो वहीं बसपा के बीच 10 रालोद के छः और सपा के दो तथा 24सदस्य निर्दलीय है,फिलहाल किसी भी दल के पास इतने सदस्य नही है।

 388 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *