दीपा लोधी कांड के दोषियों पर हो कठोर कार्यवाही

दीपा लोधी कांड के दोषियों पर हो कठोर कार्यवाही

दोषी पुलिसकर्मी और अधिकारियों पर सुसंगत धाराओं में वाद पंजीकृत हो -डॉ0 अनीता लोधी
बुलन्दशहर/डिबाई
। विधायक डॉ0 अनीता लोधी ने हमीरपुर जनपद के मझगवां थाना क्षेत्र के ग्राम खड़ाखर गांव की छात्रा दीपा लोधी को मनचले दबंगों द्वारा अपमानित और प्रताडि़त कर उसे आत्महत्या करने को मजबूर करने वाले अपराधियों के विरुद्ध कठोरतम कार्यवाही करने सम्बन्धी पत्र उत्तर प्रदेश पुलिस महानिदेशक को लिखा है। अपने पत्र में डॉ0 अनीता लोधी ने हमीरपुर पुलिस की कार्रवाई पर सवालिया निशान लगाए हैं।
उन्होंने लिखा है कि ऐसा प्रतीत होता है कि पुलिस का गुंडों को पूर्ण संरक्षण प्राप्त है। तभी तो दीपा लोधी को अपमानित और प्रताडि़त कर आत्महत्या को मजबूर करने के बाबजूद भी स्थानीय पुलिस द्वारा अपराधियों के विरुद्ध डेढ़ महीने तक कोई कार्यवाही नहीं की गई। डॉ0 अनीता लोधी ने अपने पत्र में पुलिस अधीक्षक हमीरपुर को अपने पद कर्तव्य और दायित्व का निर्वहन करने में घोर लापरवाही बरतने का आरोप भी लगाया  है। वही संबंधित थाने के थानाध्यक्ष और संबंधित क्षेत्राधिकारी के विरुद्ध सुसंगत धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर, उनके विरुद्ध कार्यवाही करने की भी मांग की है। उन्होंने मृतका के परिवार को शासन द्वारा 50लाख रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान किए जाने की भी सिफारिश भी की है। बुधवार को अपने कार्यालय पर डॉ0 अनीता लोधी ने स्थानीय लोधी नेताओं के साथ विचार विमर्श किया। सभी उपस्थित समुदायों के लोगों ने डॉ0 अनीता लोधी से कहा कि इस प्रकरण में वे शासन स्तर पर आवश्यक कदम उठाकर दोषियों को सजा दिलवाने में पहल करें।
ज्ञातव्य है कि लगभग डेढ़ माह पूर्व उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जनपद के खड़ाखर गांव में प्रधानी पद की जीत की खुशी में कुछ अपराधी किस्म के लोगों ने शासन स्तर के स्पष्ट निर्देशों की अवहेलना करते हुये डीजे के साथ जुलूस निकाला और उक्त छात्रा को उसके माता-पिता के समीप घसीट कर डीजे पर नांचने को मजबूर किया। छात्रा के मना करने पर दबंगों ने न केवल छात्रा को पीटा ,बल्कि उसके माता-पिता की भी पिटाई की और अपमानजनक भाषा का प्रयोग किया। इसके बाद छात्रा जब भी घर से बाहर निकलती, उक्त दबंग गुंडों ने छात्राओं पर फब्तियां कसना शुरू कर दिया। अपमान से आहत व तंग होकर दीपा को खुदकुशी करने पर विवस होना पड़ा। दोषियों के विरुद्ध थाने में अपराध पंजीकृत करने के बाद भी पुलिस के संरक्षण में दबंग खुले घूमते रहे और डेढ़ माह तक कोई कार्यवाही नहीं हुई। डॉ0 अनीता लोधी ने कहा है कि एक महिला के प्रति किये गये इस अमानवीय व्यवहार के विरुद्ध मैं भरपूर आवाज उठाऊंगी चाहे मुझे कहीं तक जाना पड़े।

 228 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *