दिल्ली विश्वविद्यालय अध्यापक वेलफेयर फंड की अंशदान राशि को 50 रूपए से बढाकर 500 रूपए करने की मांग

दिल्ली विश्वविद्यालय अध्यापक वेलफेयर फंड की अंशदान राशि को 50 रूपए से बढाकर 500 रूपए करने की मांग

नई दिल्ली। कोरोना महामारी का संक्रमण जिस कदर कहर बरपा रहा है ,उससे सरकारी सभी इंतजाम नाकाफी साबित हुए हैं। कोरोना संकट को देखते हुए दिल्ली विश्वविद्यालय के करोड़ीमल कॉलेज के कैमिस्ट्री विभाग के प्रोफेसर डॉ0 रुपेश गुप्ता, आचार्य नरेंद्र देव ,कॉलेज के कॉमर्स विभाग के प्रोफेसर डॉ0 संदीप कुमार गोयल व देशबंधु गुप्ता कॉलेज के कैमिस्ट्री विभाग के प्रोफेसर डॉ0 गजेंद्र सिंह ने दिल्ली विश्वविद्यालय के उपकुलपति प्रोफसर डॉ0 योगेश त्यागी को पत्र लिखकर दिल्ली विश्वविद्यालय अध्यापक वेलफेयर फंड की अंशदान राशि को 50 रूपए से बढाकर 500 रूपए करने की मांग की है।डॉ0 रुपेश गुप्ता ने बताया कि अभी इस वेलफेयर फंड से अगर किसी अध्यापक की किसी कारणवश मृत्यु हो जाती है अथवा विकलांगता के चलते आजीविका चलाने में परेशानी आती है तो मात्र एक लाख पचास हजार तक सहायता देने का प्रावधान वर्तमान व्यवस्था में है, लेकिन अगर उप कुलपति अपनी संतुति देकर अंशदान राशि को 50 रूपए मासिक से बढाकर 500 रूपए मासिक कर देंगे तो इस अध्यापक वेलफेयर फंड से हम अधिक राशि की मदद अपने अध्यपकों की कर सकते हैं क्योंकि हमारे साधन सीमित है और सीमित साधनों में से बेहतर क्या हो? इसकी व्यवस्था का सुझाव और मांग हमने की है। उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि जो कोरोना संक्रमण से हमारे अध्यापकगणों को काल के हाथ मृत्यु को प्राप्त होना पड़ा। उसके लिए यह प्रयास कुछ भी नहीं है, लेकिन हम मदद करके परिवार को सबल जरूर बना सकते हैं। उन्होंने अपने साथी इंदिरा गाँधी कॉलेज और फिजिकल एजुकेशन के प्रोफेसर राकेश गुप्ता के निधन पर उन्हें अपनी श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि हमने देश और खेलों को समर्पित अपना साथी खो दिया है, जिसकी कमी को पूरा करने में लम्बा वक्त लगेगा।  

 330 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *