डिप्टी जेलर ऋत्विक प्रियदर्शी का जिला कारागार बुलन्दशहर से एटा हुआ स्थानांतरण

डिप्टी जेलर ऋत्विक प्रियदर्शी का जिला कारागार बुलन्दशहर से एटा हुआ स्थानांतरण

अनेक सराहनीय कार्यों के लिए राज्यपाल द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर किया जा चुका है सम्मानित
बुलन्दशहर।
लखनऊ स्थित कारागार प्रशासन एवं सुधार सेवाएं उत्तर प्रदेश शासन द्वारा विगत दिवस कुल 68 डिप्टी जेलर का स्थानांतरण किया गया है, जिसमें जिला कारागार के डिप्टी जेलर ऋत्विक प्रियदर्शी को इसी पद पर जिला कारागार एटा स्थानांतरित किया गया है। बताया गया कि 10जुलाई को जारी की गई डिप्टी जेलर स्थानांतरण सूची में 68 डिप्टी जेलर्स के नाम शामिल थे। डिप्टी जेलर ऋत्विक प्रियदर्शी पीसीएस 1999 की परीक्षा में चयनित हुए,जो जिला कारागार उरई, गाजियाबाद ,रामपुर ,शाहजहांपुर, बाराबंकी, सीतापुर, बुलन्दशहर में डिप्टी जेलर के पद पर रहे है, जिनका विगत 10जुलाई को जिला कारागार एटा स्थानांतरण किया गया।उन्होंने बताया कि जनपद में उनकी तैनाती 28जून, 2016 को हुई थी। पांच साल के कार्यकाल में इनके द्वारा अनेक सराहनीय कार्य किए गए ,जिसमें तीन बार जेल कबड्डी लीग का आयोजन ,तीन बार खेल सप्ताह आयोजन ,एक बार क्रिकेट लीग आयोजन ,प्रत्येक वर्ष जेल दिवस पर बंधुओं एवं कारागार कर्मियों के मध्य खेल कूद का आयोजन, अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर महिला बंदियों के मध्य खेलकूद ,नृत्य ,गायन एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन, दो बार गांधी व शास्त्री जी की जयंती पर प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन, बेगुनाह कैदी नाटक का लेखन निर्देशन और जेलर की भूमिका, भाषण वाद विवाद प्रतियोगिता नृत्य गायन रागिनी की प्रतियोगिताओं का आयोजन और रामलीला एवं भजन संध्या का आयोजन किया गया। जिन्हें अनेक पुरस्कारों से भी सम्मानित किया गया। जिसमें गणतंत्रता दिवस पर साल 2019 में राज्यपाल द्वारा विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित किया गया था। स्वतंत्रता दिवस ,2019 में आईजी कमांडेशन डिस्क प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया। दो बार जिलाधिकारी बुलन्दशहर द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। दो बार उपमहानिरीक्षक कारागार मेरठ परिक्षेत्र मेरठ द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। कारागार में कोरोना संक्रमण को फैलाने से रोकने हेतु एसएसपी द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया था।उन्होंने बताया कि उनका बुलन्दशहर में कार्यकाल बहुत अच्छा रहा है ,जिन्हें सभी द्वारा प्यार एवं सहयोग मिला है, वह हमेशा याद रहेगा। यहां से अनेक यादें जुड़ी हुई है, आगे भी उनकी सेवा के लिए तत्पर रहूंगा। इनके कार्य एवं व्यवहार से सभी अधिकारी, बंदी एवं अन्य लोग भी प्रसन्न हैं, जो स्थानांतरण होने से मायूस है।

 52 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *