ट्रैफिक सिग्नल के नाम पर जनता का लाखों रुपया बेकार

ट्रैफिक सिग्नल के नाम पर जनता का लाखों रुपया बेकार

सालों बाद भी चालू नहीं हुई काला आम पर रेड लाइट
बुलन्दशहर।
कई साल पहले नगर के काला आम चौराहे पर यातायात को नियंत्रित करने के उद्देशय से जिला प्रशासन द्वारा ट्रैफिक सिग्नल यानि रेड लाइट लाखों रूपए की लागत से लगवाई गयी थी, लेकिन आज तक भी उनका चालू न होना, जहाँ एक ओर यह प्रशासन की लापरवाही दर्शाता है तो दूसरी ओर अफसरों द्वारा जनता के पैसे की बर्बादी स्पष्ट दिखाई दे रही है।बता दें कि नगर के दिल कहे जाने वाले व्यस्ततम चौराहा काला आम पर ट्रैफिक को नियंत्रित करने के लिये करीब चार साल पहले लाखों रुपये की लागत से करीब आधा दर्जन रेड लाइट यानि ट्रैफिक सिग्नल लगवाये थे ,लेकिन तकनीक खामियों का हवाला देते हुए सालों बाद आज तक भी प्रशासन द्वारा इन ट्रैफिक सिग्नलों को चालू नही कराया गया, जिसके चलते लाखों की कीमत के ये ट्रैफिक सिग्नल केवल शोपीस बनकर रह गए हैं। इस बाबत जब दर्पण टाइम्स टीम ने यातायात पुलिस अफसरों और कर्मचारियों से जानकारी मांगी तो वे भी कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाये। ऐसे में अब सवाल यह उठता है कि क्या जनता के पैसे को ऐसे ही बर्बाद किया जाता रहेगा। आखिर इस मामले पर जवाबदेही किसकी है?

 86 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *