जूपी ने रिलायन्स जियो के साथ अहम साझेदारी की घोषणा की

जूपी ने रिलायन्स जियो के साथ अहम साझेदारी की घोषणा की

जियो इकोसिस्टम के साथ बढेगी पारदर्शिता
अपनी तरह की पहली इंटीग्रेशन और आधुनिक टेक एवं इनोवेशन पार्टनरशिप
व्यापक वितरण पहुंच यह साझेदारी बाजार में जूपी के विकास को सशक्त बनाएगी, जिसने हाल ही में 102 मिलियन अमेरिकी डॉलर का सीरीज बी राउण्ड किया है पूरा  
नई दिल्ली/बुलन्दशहर।
साल, 2022 में भारत की सबसे बड़ी स्किल-बेस्ड कैजुअल गेमिंग कंपनी जूपी ने जियो प्लेटफॉर्म्स लिमिटेड के साथ अपनी तरह की पहली सामरिक साझेदारी की घोषणा की है। यह साझेदारी एक ऐसी प्रणाली का निर्माण करेगी जिसके तहत जूपी के प्रोडक्ट्स एवं सर्विसेज के प्रभावी विकास और वितरण को सुनिश्चित किया जा सकेगा, जिससे 450 मिलियन से अधिक उपभोक्ताओं को लाभ होगा। इस साझेदारी द्वारा जियो के यूजर जूपी के ऑनलाइन स्किल बेस्ड गेम्स तथा जूपी द्वारा विकसित अन्य आधुनिक प्रोडक्ट्स को एक्सेस कर सकेंगे। इस नई साझेदारी के तहत कई भाषाओं में अधिक गुणवत्तापूर्ण गेम्स को ज्यादा से ज्यादा यूजर्स तक पहुंचाने की कोशिश की जाएगी ,ताकि जूपी को भारत के सबसे बड़े गेमिंग प्लेटफॉर्म के रूप में विकसित करने और इंडिया को भारत के साथ कनेक्ट करने की महत्वाकांक्षा को पूरा किया जा सके। उम्मीद की जा रही है कि भारत में 5जी कॉमर्शियल लॉन्च से पहले 150 मिलियन से अधिक 5 जी हैण्डसैट बेच दिए जाएंगे, ऐसे में जूपी जियो के साथ साझेदारी में ज्यादा से ज्यादा यूजर्स के साथ जुड़ने के लिए प्रयासरत है।
जूपी को जियो की पहुंच का भी लाभ मिलेगा। जूपी के गेम्स को जियो के सभी उपभोक्ताओं तक वितरित किया जाएगा। इन्हें जियो फोन के उपभोक्ताओं को भी उपलब्ध कराया जाएगा। इससे जूपी को देश के सबसे तेजी से विकसित होते गेमिंग स्टार्ट-अप से आगे बढ़कर देश की सबसे बड़ी गेमिंग कंपनी के रूप में विकसित होने में मदद मिलेगी। यह साझेदारी जूपी के उस दृष्टिकोण में उपभोक्ताओं का भरोसा बढ़ाएगी, जिसे जूपी गेम फोर्मेट्स की जीत और मु्रदीकरण के रूप में भारतीय बाजार में लेकर आया है। हाल ही में जूपी ने 102 मिलियन अमेरिकी डॉलर के सीरीज बी फंडिंग राउण्ड को पूरा किया था, जिसमें से 30 मिलियन अमेरिकी डॉलर की राशि पहले से जुटाई जा चुकी थी। इस राउण्ड में प्रख्यात निवेशकों जैसे वेस्टकैप ग्रुप, टोमालेस बे कैपिटल, नेपियन कैपिटल, एजे कैपिटल, मैट्रिक्स पार्टनर्स इंडिया और ओरिओस वेंचर्स पार्टनर्स ने हिस्सा लिया था। साथ ही जूपी द्वारा जुटाई गई कुल राशि 600 मिलियन अमेरिकी डॉलर के मूल्यांकन पर 121 मिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंच गई है। पिछले निवेशकों में स्माइल ग्रुप शामिल था, जिसने जूपी के साथ वेंचर बिल्डर के रूप में साझेदारी की थी। जूपी को भारत में 70 मिलियन से अधिक बार डाउनलोड किया जा चुका है और नई जुटाई गई राशि से इस पहुंच को और अधिक बढ़ाया जा सकेगा। इस राशि का उपयोग नए प्रोडक्ट्स के विकास, डिजाइन अनुभवों को बेहतर बनाने, नए भोगौलिक क्षेत्रों में विस्तार, मार्केटिंग और पहुंच बढ़ाने, अनुसंधान एवं इनोवेशन, नए प्रतिभाशाली कर्मचारियों की भर्ती के लिए किया जाएगा ताकि जूपी अपनी महत्वाकांक्षा के अनुसार एक उत्कृष्ट प्लेटफॉर्म के रूप में मजबूती से स्थापित हो सके। 2022 में जूपी नए तरह के मनोरंजन का विकास जारी रखेगा, जो ज्यादा से ज्यादा यूजर्स को लुभा कर उन्हें सशक्त बनाए और उन्हें मनोरंजन का बेजोड़ अनुभव प्रदान करें।
इस अवसर पर जूपी के संस्थापक एवं सीईओ दिलशेर सिंह ने कहा, ‘‘जूपी हमेशा से व्यवहार विज्ञान, मानव प्रेरणा और संस्कृति को प्राथमिकता देने वाले प्लेटफॉर्म के रूप में काम करता रहा है, यह भारत की सर्वश्रेष्ठ इंजीनियरिंग प्रतिभा, रचनात्मकता और स्टोरीटैलिंग क्षमता को एक ही छत के नीचे लेकर आया है। इसने इनोवेशन्स और यूजर सेंट्रिक डिजाइन एवं टेक-फॉर-गुड दृष्टिकोण के साथ इनोवेशन्स के सभी दायरों को पार किया है। जूपी की यात्रा में जियो एक परफेक्ट पार्टनर हैं, जो देश के दूर-दराज के इलाकों तक जूपी की पहुंच बढ़ाएगा और सबसे वंचित लोगों तक इसके प्रोडक्ट्स की पहुंच को कई गुना बढ़ा देगा। एक उम्मीद के मुताबिक भारतीय स्मार्टफोन का निर्यात 2020-21 में 3.6 बिलियन अमेरिकी डॉलर था, जो 15 गुना बढ़ोतरी के साथ 2025-26 में 55 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंच जाएगा। एक घरेलू स्टार्ट-अप के रूप में हम भारतीय प्रोडक्ट्स और गेम्स को उन सभी डिवाइसेज तक पहुंचाना चाहते हैं जो भारत की कहानी को दुनिया के हर कोने तक ले जाएं। हम गेम्स को  मनोरंजन का साधन बनाकर कर और दुनिया भर के लाखों लोगों के चेहरों पर मुस्कान लाकर अपने इन प्रयासों को जारी रखेंगे।’‘ ‘इस साझेदारी के लिए इससे बेहतर समय कोई और नहीं हो सकता था क्योंकि हम ऐज कम्प्यूटिंग, डीसेंट्रलाइज्ड डेटा नेटवर्क और आर्टीफिशियल इंटेलीजेन्स पर ध्यान केन्द्रित करते हुए सही मायनों में भारत के सर्वश्रेष्ठ ग्लोबल प्लेटफॉर्म का निर्माण कर रहे हैं। फीचर्स से युक्त प्लेटफॉर्म का निर्माण करते हुए हम हमेशा यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हमारे प्रोडक्ट्स देश के हर कोने में हर व्यक्ति तक पहुंचे। हम जूघ्पी स्किलिंग एकेडमी के विस्तार को लेकर भी बेहद उत्सुक हैं, जिसके माध्यम से हम देष्श के युवाओं कों भावी कामों के लिए सशक्त बनाकर उन्हें एक समान अवसर प्रदान करते हैं और अपने इन प्रयासों के माध्यम से लोकतंत्र को और अधिक मजबूत बनाने के लिए तत्पर हैं।’’ उन्होंने अपनी बात को जारी रखते हुए कहा। जूपी ने कई पहलें की हैं और हाल ही में इसे हुरून इंडिया फ्यूचर यूनिकॉर्न लिस्ट 2021 में सूनीकॉर्न का दर्जा दिया गया, जहां इसके फाउंडर्स को कैटेगरी में यंगेस्ट लीडर्स का खिताब मिला। इससे पहले भी इन्हें फोर्ब्स एशिया 30 अंडर 30 कन्ज्यूमर टेक कैटेगरी में स्थान मिल चुका है। इस गेमिंग स्टार्ट-अप को मोबाइल डिवाइसेज के लिए लोकप्रिय एवं गुणवत्तापूर्ण गेम्स पेश करने के लिए जाना जाता है, जो प्रतिस्पर्धा और मनोरंजन का बेजोड़ अनुभव प्रदान करते हैं। यूजर्स और भाषा उन्मुख दृष्टिकोण इसके गेम्स को विभिन्न क्षेत्रों के लोगों के लिए लोकप्रिय बनाते हैं।
0000000000000000000000000

 74 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *