जिले में कोरोना कहर ने फिर पकड़ी रफ्तार, आज मिले 549 कोरोना संक्रमित

जिले में कोरोना कहर ने फिर पकड़ी रफ्तार, आज मिले 549 कोरोना संक्रमित

बुलन्दशहर जिले में अब तक 12043 हुये कोरोना पॉजिटिव, जबकि 9121यक्ति हुये ठीक
160 कोरोना पॉजिटिव की हो चुकी है मौत
बुलन्दशहर।
जिले मेें दिनोंदिन कोरोना कहर लोगों पर जमकर टूट रहा है,जिसके चलते जिले में हड़कम्प मचा है। इसी क्रम में जिले में आज 549 और नये कोरोना संक्रमित केस मिले हैं, इन्हें मिलाकर जिले में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या 12043 हो गयी है, इनमें से जिले मंे 213 और नये व्यक्तियों ने कोरोना संक्रमण से जंग जीती है, जिसके कारण जिले में अब कोरोना मुक्त व्यक्तियों की संख्या 9121 हो गई है। वहीं आज 6 लोगों की मौतों के बाद जिले में अब कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या 160 हो गयी हैं, जबकि स्वास्थ्य विभाग ने अपने पोर्टल पर मरने वालों की संख्या 135 दर्शाई जा रही है। अब जिले में उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी 2762 हो गई है। अब जिले में हॉटस्पॉट व कंटेनमेंट जोन भी 1000 के पार हो गये।
वहीं यह कोरोना लहर अधिवक्ताओं पर ज्यादा भारी पड़ रही है,जिसके चलते जिले में प्रत्येक दिन ही कोरोना से अधिवक्ताओं की मृत्यू हो रही है, जो अत्यंत दुखद है,इसी के चलते आज एक और अधिवक्ता नागेंद्र सिरोही ने मेरठ के एक हॉस्पिटल में दम तोड़ा है। बता दें कि अब तक एक दर्जन से अधिक अधिवक्ताओं ने कोरोना संक्रमण से दम तोड़ा है। वहीं दूसरी ओर हजारों संक्रमित भी है। मरने वालों में कुछ न्यायिक कर्मी भी है। वहीं पूर्वमंत्री शमीम आलम के पुत्र नजीब अशरफ की जिन्दगी भी कोरोना ने समाप्त कर दी। जो चिट्टा स्थित जेपी हॉस्पिटल में भर्ती थे। उधर खुर्जा स्थित श्री नवदुर्गा शक्ति मंदिर के ट्रस्टी डा0ॅ मोहनलाल की भी मौत हो गयी है। जिनका कैलाश हॉस्पिटल में उपचार चल रहा था। उधर गांव हजरतपुर स्थित छत्रपति शिवाजी स्कूल के आचार्य चरण सिंह की कोरोना से मौत हो गयी। बताया गया कि उपचार के अभाव में उन्होंने दम तोड़ा। सिकन्द्राबाद स्थित कोविड हॉस्पिटल में भर्ती 22वर्षीय शरद मिश्रा भी कोरोना से जंग हार गये। वहंी खानपुर में संजय सिंघल की कोरोना से मौत हो गयी।
ये सब तो वो है जिनके आंकड़े उपलब्ध है जिले में विगत डेढ सप्ताह भर में कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या 175 के पार है, मगर इनके आंकड़े नहंी हैं, क्योंकि इनमें अधिकतर लोगों ने बिना सूचना दिये जाने मृतकों का अंतिम संस्कार कर दिया है। इस प्रकार अब जिले के हालात ठीक नहीं हैं,कोरोना की तेजी से बढ़ती रफ्तार से जिले के आलाधिकारियों की रातों की नींद व दिन का चैन उड़ा हुआ है। इसका मुख्य कारण है कि जनमानस न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहा है और न ही मास्क का। लोगों ने कोरोना महामारी को मखौल बनाकर रख दिया है। इसी के चलते शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन ने रात्रि कर्फ्यू लगाने के साथ ही पूरे प्रदेश में शुक्रवार रात्रि 8बजे से मंगलवार प्रातः 7बजे तक लॉकडाउन की घोषणा की है, जिसका सख्ती से पालन कराया जायेगा।

 260 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *