जिला पंचायत अध्यक्ष पद हेतु शुक्रवार को भीषण घमासान

जिला पंचायत अध्यक्ष पद हेतु शुक्रवार को भीषण घमासान

आगामी तीन जुलाई को होना है मतदान
वार्ड-8 से सदस्य पद पर चुनाव लडे़ राहुल गुर्जर ने कोर्ट में याचिका की दायर
बुलन्दशहर।
जिले में जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए शुक्रवार को भीषण घमासान हुआ,जिसके चलते पुलिस व प्रशासन ने ग्राम पीर बियावानी से 25-30 जिला पंचायत सदस्यों समेत विभिन्न दलों के पदाधिकारियों को भी हिरासत में ले लिया और आशंका है कि कही सत्ता के दबाब में प्रशासन नामांकन के बाद ही छोड़े। बता दें कि जिले में जिला पंचायत अध्यक्ष पद हेतु आगामी 03 जुलाई को मतदान होगा,उसके लिये शनिवार यानि 26जून को नामांकन किए जायेंगे। सिटी मजिस्टेªट ने बताया कि नामांकन के लिये कलेक्ट्रेट में सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किये है,जिसके दृष्टिगत भारी पुलिस बल तैनात रहेगा।
बताया जाता है कि नामांकन से एक दिन पूर्व शुक्रवार को भाजपा समर्थित जिला पंचायत सदस्य बनीं बबीता दहिया भी नामांकन पत्र लेने पहंुची, मगर उन्हें नामांकन पत्र नहीं मिला। सत्ता पक्ष से डॉ0 अंतुल तेवतिया और विपक्ष से आशा यादव व गीता चरोरा के बीच काफी घमासान हुआ। नामांकन से एक दिन पहले सिकन्द्राबाद क्षेत्र स्थित एक महाविद्यालय में रणनीति बना रहे विपक्षी दलों के 25-30 सदस्यों को पुलिस ने हिरासत में लिया है, जिसका सदस्यों और उनके समर्थकों ने जमकर विरोध किया और धरने पर बैठकर जमकर नारेबाजी की।उधर जिला पंचायत के वार्ड-08 से सदस्य पद पर हुए चुनाव के बाद मतगणना पर सवालियां निशान लगा दिया है। इस वार्ड से चुनाव लड़े राहुल गुर्जर ने जनप्रतिनिधियों और सरकारी मशीनरी पर मतगणना में धांधली का आरोप लगाते हुए कोर्ट में याचिका दायर की है। राहुल गुर्जर ने भाजपा समर्थित प्रत्याशी को जिताने के लिए सांसद और सरकारी मशीनरी पर मतगणना में धांधली कराने का आरोप लगाया है।उन्होंने पुनर्मतगणना कराने और विजयी सदस्य को अवैध घोषित करने की मांग की है।

 122 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *