जिलाधिकारी ने विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की अधीनस्थों संग समीक्षा बैठक कर दिए निर्देश

जिलाधिकारी ने विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की अधीनस्थों संग समीक्षा बैठक कर दिए निर्देश

ग्राम पंचायतवार सूची बनाते हुए आशाओं के माध्यम से प्रेरित कराते हुए छूटे हुए लोगों के गोल्डन कार्ड बनाए जाए  
कार्यदायी संस्था सीएचसी/पीएचसी का निर्माण कार्य तेजी से कराते हुए निर्धारित समयावधि में पूर्ण कराएं
यदि बैंक, किसानों की बिना सहमति के प्रीमियम काटते हैं तो बैंक के विरूद्ध कार्यवाही की जाए
बुलन्दशहर।
शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार की अध्यक्षता में विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की समीक्षा बैठक आहूत की गई। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा विभागवार विकास कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि कोविड संक्रमण के कारण विकास कार्यक्रमों एवं योजनाओं में प्रगति कम हुई है इसके लिए तेजी से कार्य को कराते हुए लक्ष्य के सापेक्ष प्रगति लायी जाये। स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं एवं कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए सीएमओ को निर्देशित किया गया कि लक्ष्य के सापेक्ष प्रगति लायी जाये। साथ ही आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत ऐसे पात्र व्यक्ति जिनके गोल्डन कार्ड नहीं बने हैं ,उनकी ग्राम पंचायतवार सूची बनाते हुए आशाओं के माध्यम प्रेरित कराते हुए गोल्डन कार्ड बनवाये जाये। इसके साथ ही सीएचसी/पीएचसी के निर्माण कार्य के संबंध में कार्यदायी संस्था को तेजी से कार्य कराते हुए निर्धारित समयावधि में कार्य पूर्ण कराने के निर्देश दिये गये। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये गये कि कोविड संक्रमण के दृष्टिगत छोटे-छोटे कार्यक्रम आयोजित कराते हुए सामूहिक विवाह कराये जायें। कन्या सुमंगला योजना की समीक्षा करते हुए जनपद का लक्ष्य अधिक होने पर जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देशित किया कि शासन स्तर पर अनुरोध करते हुए लक्ष्य को कम कराने हेतु पत्राचार करें। फसल बीमा योजना की समीक्षा करते हुए उप निदेशक कृषि को निर्देशित किया गया कि सभी बैंकों को नोटिस जारी किया जाये कि किसानों की सहमति के उपरान्त ही फसल बीमा का प्रीमियम काटा जाये, इसके उपरान्त भी यदि बैंकों द्वारा किसानों की बिना सहमति के प्रीमियम काटा जाता है तो उनके विरूद्ध कार्यवाही की जाये। जनपद में संचालित समस्त गौशालाओं में गौवंशों के लिए चारे की व्यवस्था हेतु ग्राम समाज की खाली भूमि पर नैपियर ग्रास लगाये जाने हेतु सभी ग्राम प्रधानों के साथ बैठक कर आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित कराये जाने के निर्देश डीपीआरओ, सीवीओ को दिये गये। सिंचाई विभाग के सिल्ट सफाई कार्य की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया गया कि बरसात से पूर्व सिल्ट सफाई कार्य को कराया जाना सुनिश्चित किया जाये। ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन निर्माण, सामुदायिक शौचालय आदि कार्यो की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये गये कि जिन ग्रामों में पंचायत भवन एवं सामुदायिक शौचालय हेतु भूमि उपलब्ध नहीं हुई हैं ऐसे गावांे की तहसीलवार/ब्लॉकवार सूची दी जाये ,जिससे वहां पर भूमि उपलब्धता करायी जा सके। जिला विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया कि समस्त बीडीओ एवं पंचायत सचिव के साथ बैठक कर कार्य पूर्ण कराया जाये। बैठक में विद्युत विभाग के कार्यो की समीक्षा करते हुए सरकारी विभागों द्वारा विद्युत बिल भुगतान की स्थिति के संबंध में निर्देशित किया गया कि जिन विभागों को बजट प्राप्त हो गया है वह विद्युत बिल का भुगतान सुनिश्चित करें। झटपट पोर्टल पर विद्युत विभाग से संबंधित लंबित सन्दर्भो को शीघ्रता से निस्तारित करने के निर्देश दिये गये। लोक निर्माण विभाग द्वारा नई सड़क बनाये जाने एवं सड़क मरम्मत कार्य की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया गया कि तेजी से कार्यो को पूर्ण कराया जाये। जनपद में बनाये जा रहे सेतुओं के निर्माण कार्यो की प्रगति की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया गया कि डीएफसीसी (रेलवे) विभाग को कार्य शीघ्रता से पूर्ण कराये जाने हेतु पत्र भेजा जाये।
रामघाट क्षेत्र में नहर के ऊपर लोक निर्माण विभाग द्वारा बनाये जा सेतु के निर्माण कार्य में प्रगति की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया गया कि निर्माण कार्यो को तेजी से कराते हुए पूर्ण कराया जाये। बैठक में जल निगम द्वारा कराये जा रहे सीवर की प्रगति की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी द्वारा कार्यदायी संस्था को निर्देशित किया गया कि मानक के अनुसार कार्य तेजी से पूर्ण कराया जाना सुनिश्चित करें। मनरेगा योजना के अन्तर्गत लक्ष्यों की समीक्षा करते हुए डीसी एनआरएलएम को निर्देशित किया गया कि मनरेगा के अन्तर्गत पौधारोपण कार्य कराये जाने के साथ ही पौधारोपण स्थल के चारों ओर ट्रेंच खुदाई, चौक डैम, तालाब खुदाई, तालाबों का जीर्णोद्धार आदि कार्यो को कराया जाये। उन्होंने कहा कि जिन विभागों में पूर्व से संचालित योजनाओंध्कार्यक्रमों में शासन स्तर से अभी तक लक्ष्य प्राप्त नहीं हुआ है उनमें सर्वे आदि कार्य को पूर्ण कराया जाये जिससे शासन स्तर से लक्ष्य प्राप्त होने तथा धनराशि आवंटित होने पर तत्काल लाभार्थियों को लाभ पहुंचाया जा सके। जिलाधिकारी द्वारा अन्य विभागों में लक्ष्य की प्रगति की समीक्षा करते हुए लक्ष्यों के सापेक्ष प्रगति लाये जाने के निर्देश दिये गये।
बैठक में जिलाधिकारी द्वारा कार्यदायी संस्था द्वारा कराये जा रहे विभिन्न निर्माण कार्यो की प्रगति की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि जो कार्य 80-90 प्रतिशत कार्य हो गये हैं उन्हें प्राथमिकता पर कराते हुए पूर्ण कराया जाये। कार्यदायी संस्थाओं के प्रतिनिधियांें को निर्देशित किया गया कि जिन कार्यो हेतु धनराशि प्राप्त हो चुकी हैं उनमें टेण्डर प्रक्रिया को तेजी से कराते हुए निर्माण कार्यो को प्रारंभ कराया जाये तथा समयावधि के अन्तर्गत निर्माण कार्या को पूर्ण कराया जाना सुनिश्चित करें। मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणाओं से संबंधित कार्य की प्रगति की समीक्षा करते हुए सभी कार्यदायी संस्थाओं को निर्देशित किया गया कि निर्माण कार्यो को तेजी से कराते हुए पूर्ण कराया जाये। कोन्दू में बनायी जा रही वृहद गौशाला पर करायी जा रही बाउन्ड्रीवॉल के संबंध मंे गौशाला की भूमि पर अतिक्रमण होने की समस्या संज्ञान मंे लाये जाने पर उप जिलाधिकारी सिकन्द्राबाद को गौशाला की भूमि से अतिक्रमण हटवाये जाने के निर्देश दिये गये। बाढ़ के दृष्टिगत सिंचाई विभाग द्वारा राजघाट एवं अवन्तिका देवी मन्दिर के समीप गंगा नदी में बाढ़ एवं कटान से रोकथाम हेतु कराये जा रहे निर्माण कार्य की प्रगति की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया गया कि यदि यह सुनिश्चित कराया जाये कि बाढ़ आने से पूर्व कार्य पूर्ण कर लिया जाये। यह भी सुनिश्चित किया जाये कि गंगा नदी का जलस्तर बढ़ने पर किसी भी दशा में निर्माण कार्य बहने न पाये तथा आमजनध्सम्पत्ति को किसी भी प्रकार की क्षति न हो।
नोडल अधिकारी सिंचाई बुलन्दशहर को निर्देशित किया गया कि वह स्वयं दोनों स्थलों पर कराये जा रहे कार्यो का स्थलीय निरीक्षण/पर्यवेक्षण कर वस्तुस्थिति से अवगत करायें। जिलाधिकारी द्वारा निर्माण कार्यो से संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि जो निर्माण कार्य पूर्ण हो चुके हैं उनकी तकनीकी जांच कराते हुए संबंधित विभागों को हैण्डओवर किया जाना सुनिश्चित किया जाये। यदि किसी भी निर्माण कार्य के पूरा होने के उपरान्त हैण्डओवर करने में तकनीकी जांच कराये जाने में देरी होने के प्रकरण संज्ञान में आते हैं तो संबंधित अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करते हुए कार्यवाही की जायेगी। शिक्षा विभाग द्वारा कार्यदायी संस्था पैक्सफेड को माह फरवरी 2021 में धनराशि स्थानान्तरित किये जाने के उपरान्त भी निर्माण कार्य प्रारंभ न कराये जाने के संबंध में जिलाधिकारी द्वारा नाराजगी व्यक्त करते हुए संबंधित कार्यदायी संस्था को नोटिस जारी करने के निर्देश दिये गये।
बैठक में जिलाधिकारी द्वारा वर्तमान में कोविड संक्रमण के बचाव के दृष्टिगत चल रहे वैक्सीनेशन कार्य के लिए सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि अपने अधीनस्थ अधिकारी, कर्मचारियों का शत प्रतिशत वैक्सीनेशन कराया जाये। इसके साथ ही जनपद में कार्यरत कार्यदायी संस्था के प्रतिनिधियों को भी निर्देशित किया गया कि वह भी अपने कर्मचारियों को कोविड वैक्सीन लगवाते हुए कोविड संक्रमण से बचाव कराये।कार्यदायी संस्था के प्रतिनिधियों को निर्देशित किया गया कि वह निर्माण स्थलों पर कार्यरत कर्मियों/लेबर को निर्देशित करें कि वह किसी भी दशा में अधिकृत शराब की दुकानों के अतिरिक्त अन्य किसी व्यक्ति विशेष/अनाधिकृत दुकान से किसी प्रलोभन में आकर अनाधिकृत शराब का सेवन न करें ,इससे उनकी जान को खतरा हो सकता है। यदि अनाधिकृत शराब बिक्री की कोई जानकारी किसी भी कर्मचारी, लेबर के प्रकाश में आती है तो उसे तत्काल उच्चाधिकारियांे को अवगत कराया जाये। बैठक में सीएमओ डॉ0 भवतोष शंखधर, डीडीओ एस0पी0 मिश्र सहित संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

 122 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *