जिलाधिकारी ने डॉक्टर एवं स्टाफ नर्स को दिये जा रहे प्रशिक्षण कार्यक्रम का फीता काटकर किया शुभारम्भ

जिलाधिकारी ने डॉक्टर एवं स्टाफ नर्स को दिये जा रहे प्रशिक्षण कार्यक्रम का फीता काटकर किया शुभारम्भ

स्किल लैब का निरीक्षण कर बच्चों में लक्षण पहचानने एवं अन्य स्वास्थ्य सेवाओं के संबंध में विस्तृत जानकारी की
बुलन्दशहर।
कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर से बचाव हेतु बच्चों के आईसीयू वार्ड में बच्चों को समुचित उपचार दिलाये जाने हेतु शुक्रवार को जिला महिला चिकित्सालय में डॉक्टर एवं स्टाफ नर्स को दिये जा रहे प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार ने फीता काटकर किया।
जिलाधिकारी द्वारा स्किल लैब का निरीक्षण करते हुए बच्चों में लक्षण पहचानने एवं अन्य स्वास्थ्य सेवाओं के संबंध में विस्तृत जानकारी हासिल की। उन्होंने प्रशिक्षण शिविर में भी प्रतिभाग करते हुए डॉक्टर एवं स्टाफ नर्स को दिये जा रहे प्रशिक्षण के संबंध में भी विस्तृत जानकारी हासिल की। इस अवसर पर बताया गया कि प्रशिक्षण शिविर में बच्चों में संक्रमण की स्थिति को पहचाने तथा उसके उपरान्त क्या-क्या उपचार दिया जाना हैं, के संबंध में बैच में 15 डॉक्टर्स एवं 15 स्टाफ नर्स की योग्यता को बढ़ाते हुए उन्हें विस्तृत प्रशिक्षण दिया जा रहा है। साथ ही ऐसे लक्षणयुक्त बच्चें जिनको इंजेक्शन नहीं दिया जाना हैं उनको मशीन द्वारा दवा देने तथा कितनी मात्रा में बच्चों को वजन के अनुसार दवा दी जानी हैं, उसके बारे में भी विस्तृत रूप से जानकारी दी जायेगी। बच्चों को ऑक्सीजन दिये जाने के लिए सांस की नली में किस प्रकार से ट्यूब डालना है ,उसके बारे में भी मास्टर ट्रेनर द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। प्रशिक्षण शिविर में विस्तृत रूप से थ्योरी की जानकारी दिये जाने के उपरान्त स्कील लैब में प्रशिक्षणार्थियों को थौतिक रूप से भी कैसे-कैसे बच्चों को उपचार दिया जाना है ,उसकी भी जानकारी दी जायेगी। जिलाधिकारी द्वारा प्रशिक्षण के संबंध में आवश्यक जानकारी हासिल करते हुए निर्देशित किया कि प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले डॉक्टर एवं स्टाफ नर्स द्वारा स्वास्थ्य केन्द्रों पर जाकर वार्ड बॉय, सफाईकर्मी एवं अन्य ड्यूटी पर तैनात स्टाफ को प्रशिक्षण दिया जाये। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में लक्षणयुक्त बच्चों की पहचान कराये जाने के लिए आशा, आंगनवाड़ी को भी प्रशिक्षण दिलाते हुए भी बच्चों की पहचान कराकर तत्काल उपचार हेतु स्वास्थ्य केन्द्र पर लाये जाने की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाये। इस अवसर पर सीएमओ डॉ0 भवतोष शंखधर सहित स्वास्थ्य अधिकारी एवं चिकित्सालय स्टाफ उपस्थित रहा।

 70 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *