जिलाधिकारी ने जूम वर्चुअल के माध्यम से जिले के सात विकास खंडों अंतर्गत ग्राम पंचायतों के प्रधानों संग बैठक कर किये जा रहे कार्यो की चर्चा की

जिलाधिकारी ने जूम वर्चुअल के माध्यम से जिले के सात विकास खंडों अंतर्गत ग्राम पंचायतों के प्रधानों संग बैठक कर किये जा रहे कार्यो की चर्चा की

राशन कार्ड धारकों को प्रति यूनिट 05 किलो राशन देने के लिए सभी राशन डीलर्स को पर्याप्त मात्रा में राशन उपलब्ध कराया जाए
बुलन्दशहर
। जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार ने शनिवार को कैम्प कार्यालय पर जूम वर्चुअल के माध्यम से जनपद के बुलन्दशहर, स्याना, गुलावठी, बीबीनगर, पहासू, अगौता एवं जहांगीराबाद विकास खंड के अंतर्गत ग्राम पंचायतों में नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों के साथ बैठक करते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए कराये जाने वाले कार्यो के संबंध में विस्तृत रूप से चर्चा की, साथ ही सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए किए जा रहे कार्यो/प्रयास के सम्बंध में जानकारी देते हुए कहा कि गरीब, असहाय, मजदूरों के लिए चलाई जा रही योजनाओं का लाभ पात्र को दिलाये जाने के लिए पात्र लाभार्थियों की सूची बनाकर निष्पक्षता से पात्रों को लाभ दिलाया जाए। उन्होंने ग्राम प्रधानों को निर्देशित किया कि गांव में राशन कार्ड धारकों को प्रति यूनिट 05 किलो राशन देने के लिए सभी राशन डीलरों को पर्याप्त मात्रा में राशन उपलब्ध कराया गया है। राशन का वितरण निष्पक्षता, पारदर्शिता के साथ पात्र लोगों को कराया जाए। जिन गरीब व पात्र व्यक्तियों के पास राशन कार्ड नहीं है ,ऐसे व्यक्तियों की सूची तैयार करते हुए सम्बंधित बीडीओ को उपलब्ध कराई जाए। प्रदेश सरकार द्वारा दैनिक मजदूरो के भरण पोषण के लिए कोरोना महामारी में दी जाने वाली 01 हजार रुपये की सहायता राशि के लिए गांव में दैनिक मजदूरों की सूची भी उपलब्ध कराई जाए । इस सम्बंध में जिनको पिछले साल 01 हजार रुपये की धनराशि मिल गई है ,उनकी सूची प्रशासन के पास है ,उसके अलावा जो गरीब दैनिक मजदूरी करने वाले लोग छूटे हुए हैं ,उनकी सूची ग्राम प्रधान बनाकर विकास खंड अधिकारी को उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कहा कि नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान द्वारा अपने-अपने गांव में कोविड लक्षण वाले लोगों, बुखार, खांसी आदि बीमारी से ग्रसित लोगों की गांव निगरानी समिति के साथ सूची बनाकर उन्हें ग्राम निगरानी समिति को भेजे गए दवाई दिला दें, साथ ही संबंधित प्रभारी चिकित्साधिकारी को उपलब्ध कराई जाए ,जिससे आरआरटी टीम द्वारा गांव में आकर लोगो की स्वास्थ्य जांच करते हुए सेंपल लिए जा सके। साथ ही गांव में आरआरटी टीम द्वारा जाँच में पॉजिटिव आने वाले व्यक्तियों को मेडिकल किट उपलब्ध कराए जाने तथा आवश्यकता के अनुसार उपचार दिलाये जाने की व्यवस्था की जाएगी। सभी सीएचसी/पीएचसी पर दवा की उपलब्धता सुनिश्चित कराते हुए गांवों में भी आवश्यकतानुसार दवाओं को वितरित किया जा रहा है।  
ग्राम प्रधानों को निर्देशित किया गया कि गांव में 45 साल के ऊपर के शत प्रतिशत व्यक्तियों को वैक्सीन लगवाए जाने के लिए गांव में सकारात्मक माहौल बनाते हुए नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर लोगों का वैक्सीनेशन कराया जाए। वैक्सीन के प्रति लोगों की जो भ्रांतियां है ,उन्हें दूर करने के लिए स्वयं ग्राम प्रधान सर्वप्रथम वैक्सीन लगवाएं।  संबंधित स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्साधिकारी से संपर्क करते हुए वैक्सीनेशन की पूर्ण जानकारी प्राप्त कर लें। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए गांव में साफ-सफाई, सेनिटाइजेशन, फॉगिंग का कार्य भी कराया जाए। उन्होंने कहा कि गांव में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कोविड नियमों का पालन करने हेतु व्यापक प्रचार प्रसार कराते हुए लोगों को जागरूक भी किया जाए। कोविड महामारी में पूर्ण समर्पण एवं सेवाभाव से कार्य को किया जाए। जूम बैठक में सीडीओ अभिषेक पांडेय, बीडीओ, एडीओ पंचायत सहित संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

 98 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *