जिलाधिकारी ने अवैध शराब एवं बाहरी प्रदेश से शराब के अवैध आवागमन को रोकने हेतु राजस्व, पुलिस एवं आबकारी अधिकारियों संग बैठक आहूत की

जिलाधिकारी ने अवैध शराब एवं बाहरी प्रदेश से शराब के अवैध आवागमन को रोकने हेतु राजस्व, पुलिस एवं आबकारी अधिकारियों संग बैठक आहूत की

अवैध शराब से होने वाली घटनाओं को रोकने हेतु अवैध शराब कारोबारियों को चिन्हित कर कठोर कार्यवाही की जाए
अवैध शराब के कृत्य में संलिप्त एवं विभागीय दायित्वों के प्रति लापरवाही बरतने वाले कर्मियों के प्रति भी निलंबन की कार्यवाही के साथ अनिवार्य सेवानिवृत्ति की जाए
यदि 48 घंटे के अंदर किसी भी आबकारी दुकान पर उक्त आदेशों का अनुपालन नहीं किया जाता है तो संबंधित दोषी पर एसडीएम/सीओ कार्रवाई करें
अवैध शराब की बिक्री होने पर संबंधित बीट सिपाही, चौकी इंचार्ज, चौकीदार, लेखपाल आदि को निलंबन के साथ प्रतिकूल प्रविष्टि एवं अनिवार्य रिटायरमेंट की कार्रवाई की जाए
बुलन्दशहर।
जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार की अध्यक्षता में जनपद में अवैध शराब एवं बाहरी प्रदेश से शराब के अवैध आवागमन को पूर्णतया रोकने के लिए राजस्व, पुलिस एवं आबकारी विभाग के अधिकारियों के साथ जिला पंचायत सभागार में बैठक आहूत की गई। बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि अवैध शराब से होने वाली घटनाओं के प्रति सरकार विशेष रूप से गंभीर है, इसलिए ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए अवैध शराब का कारोबार करने वाले लोगों को चिन्हित करते हुए उनके विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाये। साथ ही अवैध शराब के कृत्य में संलिप्त एवं विभागीय दायित्वों के प्रति लापरवाही बरतने वाले कर्मियों के प्रति भी निलंबन की कार्यवाही के साथ ही अनिवार्य सेवानिवृत्ति की कार्यवाही की जाये। जिला आबकारी अधिकारी को निर्देशित किया गया कि जनपद की समस्त आबकारी दुकानों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाए जाना सुनिश्चित करें। साथ ही आबकारी दुकानों पर रजिस्टर तैयार कराते हुए आबकारी अधिनियम के अंतर्गत एक व्यक्ति को मानक के अनुसार कितनी शराब विक्रय की जा सकती है, उसके अन्तर्गत संबंधित व्यक्ति का नाम, मोबाइल नंबर एवं पता रजिस्टर में दर्ज करने के निर्देश दिए गए। इस संबंध में उप जिलाधिकारी/क्षेत्राधिकारी पुलिस को निर्देशित किया गया कि यदि 48 घंटे के अंदर किसी भी आबकारी दुकान पर उक्त आदेशों का अनुपालन नहीं किया जाता है तो संबंधित दोषी के विरुद्ध कार्रवाई की जाए। जिलाधिकारी द्वारा यह भी निर्देशित किया गया कि आबकारी विभाग के निरीक्षक एवं सिपाही जो कई वर्षो से एक ही क्षेत्र में तैनात है, उनको तत्काल अन्य स्थानों पर स्थानांतरित किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने आबकारी एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि अवैध शराब की बिक्री होना जिस एरिया में पाया जाए तो संबंधित हल्का के बीट सिपाही, चौकी इंचार्ज चौकीदार, लेखपाल आदि संबंधित कर्मियों को निलंबन के साथ प्रतिकूल प्रविष्टि एवं अनिवार्य रूप से रिटायरमेंट के बारे में भी विचार किए जाने की कार्रवाई की जाएगी। सभी थाना प्रभारी को निर्देशित किया गया कि प्रत्येक बीट सिपाही को गांव लिखित आदेशों के अन्तर्गत आवंटित किया जाना सुनिश्चित करें। साथ ही गांव में अनाउंसमेंट कराते हुए परचून की दुकान पर शराब का विक्रय होने पर संबंधित के विरुद्ध कठोर वैधानिक कार्यवाही किये जाने के संबंध में प्रचार किया जाए। जिलाधिकारी द्वारा उप जिलाधिकारी ,क्षेत्राधिकारी एवं आबकारी विभाग के अधिकारियों को संयुक्त रूप से निरीक्षण करते हुए अवैध शराब एवं बाहरी प्रदेशो से  अवैध शराब के आवागमन के प्रति कार्रवाई करने के निर्देश दिये। साथ ही समय-समय पर आबकारी की दुकानों के अद्यासियों के साथ मीटिंग करते हुए उनके स्टाफ को भी चेक किया जाए। उन्होंने कहा कि ग्रामों में औचक रूप से भ्रमण करते हुए छापामार कार्रवाई करने से अवैध शराब का कारोबार करने वालों में भय उत्पन्न होगा तथा जनपद में अवैध शराब की बिक्री को रोकने में सहयोग होगा।
उन्होंने कहा कि अवैध शराब के कारण होने वाली घटनाओं से जनपद की छवि धूमिल होती है ,इसलिए अधिकारियों द्वारा प्रभावी रूप से इसके प्रति कठोर कार्रवाई की जाए। विगत दिवसों में अलीगढ़ जनपद में अवैध शराब से हुई दुर्घटना के दृष्टिगत जनपद के बॉर्डर के थाना क्षेत्रों में सघनता से निगरानी करते हुए अवैध शराब का कारोबार करने वालों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई करने के निर्देश दिये गये। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा सभी थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया कि जनपद में 18 वर्ष से 44 वर्ष के व्यक्तियों का वेक्सीनेशन कार्य प्रारंभ किया जा रहा है, जो कि जनपद के सभी तहसील एवं ब्लाक क्षेत्रों में बनाये गये केेन्द्रांे पर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन सेंटर पर पूर्व से ऑनलाइन पंजीकरण कराने वाले व्यक्ति को ही वैक्सीन लगाई जाएगी ,इसलिए वैक्सीनेशन केन्द्रों पर सुरक्षा व्यवस्था के लिए समुचित पुलिस बल तैनात किया जाए जिससे कोई अव्यवस्था न हो। उसके साथ ही थाना एवं कार्यालयों में आने वाले व्यक्तियों से वैक्सीनेशन कराये जाने के संबंध में जानकारी लेते हुए उन्हे परिवारजन सहित वैक्शीनेशन कराये जाने हेतु प्रेरित किया जाए।
बैठक में एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जनपद में शराब के धन्धें में पूर्व से लिप्त रहे ऐसे व्यक्तियों की सूची बनाएं ,जो विगत में शराब के कारोबार में लिप्त रहे हों तथा वर्तमान में वैध रूप से शराब के लाइसेंस धारक न होें। उनकी प्रभावी रूप से मॉनिटरिंग करते हुए उनके द्वारा वर्तमान में किये जाने वाले क्रियाकलापों का भी सत्यापन किया जाए। प्रत्येक थाना प्रभारी, बीट सिपाही एवं आबकारी विभाग के कर्मी के मोबाइल में बार कोड स्कैनर डाउनलोड रखने तथा निरीक्षण/भ्रमण के समय इसके माध्यम से शराब का सत्यापन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। इस अवसर पर सीडीओ, सीएमओ, अपर जिलाधिकारी-प्रशासन, अपर पुलिस अधीक्षक नगर/देहात सहित उपजिलाधिकारी/क्षेत्राधिकारी, आबकारी अधिकारी एवं थाना प्रभारी उपस्थित रहे।

 154 total views,  4 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *