जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति शासी निकाय की बैठक आयोजित की गयी

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति शासी निकाय की बैठक आयोजित की गयी

कोविड संक्रमण कम होने पर स्वास्थ्य ओपीडी एवं आईपीडी में मरीजों को देखकर उपचार दिलाये जाने की व्यवस्था की जाये
स्वास्थ्य केन्द्रों पर कोविड संक्रमण की तीसरी लहर से बचाव के लिए समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाये
बुलन्दशहर।
जिला पंचायत सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति शासी निकाय की मासिक समीक्षा बैठक जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार की अध्यक्षता में आहूत की गई। बैठक में जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग की विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों में आशाओं के भुगतान की स्थिति के संबंध में स्वास्थ्य केन्द्रवार समीक्षा करते हुए सभी प्रभारी चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि आशाओं का भुगतान शत प्रतिशत किया जाना सुनिश्चित किया जाये ,जिससे उनके द्वारा लग्नता के साथ स्वास्थ्य योजनाओं में अपेक्षित प्रगति लाये जाने में अपना पूर्ण सहयोग दिया जा सके। बैठक में स्वास्थ्य विभाग की विभिन्न योजनाओं की समीक्षा करते हुए एमओआईसी को निर्देश दिये गये कि वर्तमान में कोविड संक्रमण के कम होने पर स्वास्थ्य ओपीडी एवं आईपीडी में मरीजों को देखकर उपचार दिलाये जाने की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाये। साथ ही स्वास्थ्य योजनाओं को प्लान बनाकर क्रियान्वित कराया जाये। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य केन्द्रों में अधिक से अधिक संस्थागत डिलीवरी कराये जाने के लिए आशाओं के माध्यम से गर्भवती महिलाओं को अस्पताल में लाने की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाये। जननी सुरक्षा योजना में डिलवरी के उपरान्त भुगतान की स्थिति की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया गया कि डिलवरी के समय ही संबंधित महिला से उसके समस्त आवश्यक प्रपत्र लेते हुए शीघ्रता से भुगतान कराया जाना सुनिश्चित किया जाये। बैठक में अवगत कराया गया कि कतिपय स्वास्थ्य केन्द्रों पर भुगतान से संबंधित कर्मचारी के अनुपस्थित होेने पर भुगतान कराये जाने में समस्या आ रही है, इस संबंध में सीएमओ को निर्देशित किया गया कि ऐसे स्वास्थ्य केन्द्रों पर समीप के स्वास्थ्य केन्द्र से कर्मचारी को सम्बद्ध करते हुए भुगतान कराये जाने की व्यवस्था करायी जाये।
बैठक में डीबीटी, राष्ट्रीय कुष्ठ निवारण, मलेरिया, परिवार नियोजन, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम आदि की विस्तृत रूप से समीक्षा करते हुए कार्यक्रमों में अपेक्षित प्रगति लाये जाने के निर्देश दिये गये। राष्ट्रीय अंधता निवारण कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया गया कि कैम्प लगाकर अधिक से अधिक लोगों की आंखों की जांच कराते हुए निःशुल्क चश्मा वितरण कराते हुए कार्यक्रम में प्रगति लायी जाये। आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत गोल्डन कार्ड बनाये जाने के कार्यो की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया गया कि स्वास्थ्य केन्द्रवार सूची बनायी जाये कि उनके अन्तर्गत अभी तक कितने गोल्डन कार्ड बनाये गये हैं तथा अभी कितने अवशेष हैं, उसी आधार पर विशेष फोकस करते हुए तेजी से गोल्डन कार्ड बनाये जाने की व्यवस्था करायी जाये। इसके साथ ही गोल्डन कार्ड धारकों को उपचार दिलाये जाने के भी निर्देश दिये।
बैठक में कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर के दृष्टिगत समस्त प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देशित किया गया कि स्वास्थ्य केन्द्र पर कोविड संक्रमण की तीसरी लहर से बचाव के लिए समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाये। इसके साथ ही जिन स्वास्थ्य केन्द्रों पर ऑक्सीजन जेनरेशन प्लान्ट उपलब्ध कराये गये हैं, उन्हे अविलंब स्थापित कराते हुए जेनरेशन प्लान्ट को सक्रिय करायें। बढ़ती गर्मी के दृष्टिगत आशाओं को ओआरएस के पैकेट एवं अन्य आवश्यक दवाओं को भी उपलब्ध करायें ,जिससे आवश्यकता पड़ने पर उनके द्वारा संबंधित व्यक्ति को तत्काल उपलब्ध कराया जा सके। सभी एमओआईसी को निर्देशित किया गया कि उनके द्वारा होम आईसोलेशन में रह रहे कोविड संक्रमित मरीजों की आरआरटी टीम के द्वारा प्रभावी रूप से मॉनिटरिंग भी सुनिश्चित करायी जाये। इसके साथ ही वर्तमान में चल रहे कोविड वैक्सीनेशन कार्य हेतु जिन क्षेत्रों में वैक्सीनेशन के प्रति भ्रान्तियां फैली हुई है,ं वहां पर विशेष फोकस करते हुए लोगों की भ्रान्तियों को दूर करते हुए वैक्सीनेशन का कार्य कराया जाये। बैठक में सीडीओ अभिषेक पाण्डेय, सीएमओ डॉ0 भवतोष शंखधर, सहित संबंधित स्वास्थ्य अधिकारी एवं समस्त प्रभारी चिकित्साधिकारी उपस्थित रहे।

 58 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *