जमीन किसी की, कब्जा किसी और का, यह कैसा न्याय?

जमीन किसी की, कब्जा किसी और का, यह कैसा न्याय?

सत्ता के मद में चूर दबंगों ने किया अवैध कब्जा का प्रयास
बुलन्दशहर।
नगर क्षेत्र के राजेबाबू रोड स्थित सरस्वती शिशु मंदिर के पीछे खाली पड़ी जमीन पर कुछ दबंगों द्वारा अवैध कब्जा कर मिट्टी डलवाने का कार्य शुरू कर दिया गया था, इसी बीच मामले की जानकारी वास्तविक जमीन मालिक को हुई, जिसने तत्काल मौके पर पहंुचकर उक्त लोगों का विरोध किया और एक शिकायती पत्र जिलाधिकारी को सौंपकर न्याय की गुहार लगाई तथा इस बाबत चेयरमैन ,नगर पालिका परिषद बुलन्दशहर को भी नोटिस भेजा गया है।
नोटिस अधिवक्ता ठा0 राजवीर सिंह के मार्फत शकुंतला देवी पत्नी स्व0 ओमप्रकाश निवासी मौ0 शिवपुरी द्वारा मनोज कुमार गर्ग, अध्यक्ष, नगर पालिका परिषद, बुलन्दशहर को भेजा गया है। नोटिस में कहा गया है-हस्ब हिदायत अपनी मुवक्किला मजकूर आपको इत्तिला दी जाती है कि मेरी मुवक्किला व अन्य सह खातेदार खाता सं0-00038 के खेत संख्या–805स. रकबई 0.1640 हैक्टेअर एवं खाता सं0-00035 के खेत संख्या-805स, रकबई 0.0380 है, वाके मौजा बरन अन्दर परगना बरन, जिला बुलन्दशहर के मालिक, काबिज व दखील है, लेकिन पिछले कई दिनों से उक्त भूमि पर आपके पत्रांक संख्या-27/अध्यक्ष/ 2021-22, द्वारा नगर में सीवर लाईन बिछाने की अमृत योजना के तहत मिट्टी को डाला जा रहा है। जबकि आपने अथवा अधिशासी अधिकारी नगर पालिका ने मेरी मुवक्किला अथवा अन्य किसी सह खातेदार से अनुमति प्राप्त नहीं की गई है। लगता है कि इसके पीछे किसी भू-माफिया का हाथ है। वे पहले भी कई बार उक्त भूमि पर अवैध कब्जा करने का प्रयास कर चुके हैं। उक्त भूमि जिलाधिकारी बुलन्दशहर को किसी शिव कुमार गौमत द्वारा प्रस्तुत प्रार्थना पत्र पर दिनांक 05.07.2014 को प्रेषित जांच आख्या द्वारा विवेक कुमार श्रीवास्तव, उपजिलाधिकारी सदर बुलन्दशहर के अनुसार संक्रमणीय भूमि घोषित किया गया था। फलतः आपका उक्त आदेश कानून और वाकयात् के बिल्कुल खिलाफ है। लिहाजा आपको मेरी मुवक्किला व अन्य सह खातेदारों के उक्त वर्णित खेत नम्बरान में सरप्लस मिट्टी डालने का कोई कानूनी व नैतिक अधिकार नहीं है। अतः आपको यह नोटिस इस अमर का दिया जाता है कि आप मेरी मुवक्किला के खेत नम्बरान में तत्काल मिट्टी डलवाना बंद करें, अन्यथा मेरी मुवक्किंला आपके खिलाफ अदालत मजाज व पुलिस प्रशासन में कार्यवाही करने को मजबूर होगी।इसके बाद पीडि़त पक्ष ने बताया कि उक्त नोटिस नगर पालिका में रिसीव करा दिया गया है, यदि नोटिस के बाद भी उक्त दबंग अपनी हरकतों से बाज नहीं आते है तो मुझे मजबूरन कोर्ट का सहारा लेना पडे़गा।
वहीं इस प्रकरण पर मनोज कुमार गर्ग चेयरमैन, नगर पालिका परिषद बुलन्दशहर का कहना है कि यह प्ले ग्राउंड है,जो सोसाइटी की जमीन है, 805स नम्बर यहां नहीं है,यह नम्बर कही और है। हमने इसमें भराव कराया है, और 15 बिट में प्रस्ताव गया हुआ हैै, इसमें प्ले ग्राउंड बनाने के लिये प्रस्ताव है। यह जमीन पालिका की नहीं है, बल्कि सोसाइटी की जमीन है। एक प्रश्न के जबाब में उन्होने कहा कि सन,1927 के जीओ के अनुसार सोसाइटी की जितनी भी जगह थी ,वो नगर पालिका में निहित हो गयी है। सोसाइटी का ही प्ले ग्राउंउ है, उससे आगे असेम्बली हाउस है, दो पार्क थे, एक पम्प हाउस था, पम्प हाउस पर पीजा गार्डन बना है। इसे जबरदस्ती भूमाफियाओं ने कब्जा किया है। 805स नम्बर की नक्शे के आधार पर वो तहसील से जांच करा लें।प्रतिउत्तर में कहा कि हम इसे पर्सनल नहीं घेर रहे, हम बच्चों का प्ले ग्राउंड बनवा रहे है। प्ले ग्राउंड का प्रस्ताव भी गया हुआ है। हम प्राईवेट संस्था तो नही है। उन्हांेने बताया कि अभी एक सप्ताह पूर्व ये लोग आवास विकास वालों से मिलकर कब्जा करा रहे थे, जब कुछ नहीं था, जबकि वो लोग प्राईवेट थे, हमने उस कब्जे को रूकवाया। यदि उनकी जमीन थी, तो इन्होंने खुदाई क्यों नहीं रूकवाई। अंत में उन्होंने कहा कि हमारे नॉलेज में यह प्ले ग्राउंड की जमीन है, इस पर हम प्ले ग्राउंड ही बनवाएंगे। इनके द्वारा दिया नोटिस मेरे संज्ञान में नहीं है, हो सकता है कि वह नोटिस मुझे सोमवार को मिले, तभी देखेंगे और उसका जबाब देंगे।

 264 total views,  4 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *