जनजागरूकता रैली निकाल संचारी रोग नियंत्रण अभियान का किया शुभारंभ

जनजागरूकता रैली निकाल संचारी रोग नियंत्रण अभियान का किया शुभारंभ

घर-घर जाकर लोगों को जागरूक करेगी मलेरिया टीम
बुलन्दशहर।
जिला अस्पताल में गुरुवार को संचारी रोग नियंत्रण अभियान का शुभारंभ हुआ। इस अवसर पर जनजागरूकता रैली का शुभारंभ सीएमओ डॉ. भवतोष शंखधर ने हरी झंडी दिखाकर किया। जनपद में यह अभियान 31 जुलाई तक चलेगा। इसी बीच 12 से 25 जुलाई तक दस्तक अभियान चलाया जाएगा। दस्तक अभियान के तहत मलेरिया से बचाव को लेकर लोगों को जागरूक किया जाएगा। इसमें बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग, कृषि विभाग, पंचायती राज विभाग सहित 12 विभाग शामिल हैं।
इस अवसर पर सीएमओ डॉ. भवतोष शंखधर ने लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक करते हुए मास्क पहनने, शारीरिक दूरी का पालन करने की अपील की।जिला अस्पताल प्रांगण शपथ ग्रहण के उपरांत शहर के मुख्य मार्गों पर जनजागरूकता रैली निकाली गई। दस्तक अभियान के तहत 12 से 25 जुलाई तक कुष्ठ कार्यक्रम, आयुष्मान गोल्डन कार्ड, टीबी रोगी खोजी कार्यक्रम चलाया जाएगा।सीएसओ ने बताया कि मलेरिया में व्यक्ति को ज्यादा देर तक बुखार आता है और यह बुखार प्रतिदिन तीन से चार घंटे तक रहता है। मलेरिया 10 से 12 दिन तक व्यक्ति को प्रभावित करता है। तेज बुखार के साथ ठंड लगना, उल्टी, दस्त तेज पसीना आना तथा शरीर का तापमान 100 डिग्री सेल्सियस से ऊपर बढ़ जाना, सिरदर्द, शरीर में जलन आदि इसके लक्षण हैं। इसकी निःशुल्क जाँच और इलाज विशेषज्ञ चिकित्सकों की देखरेख में जिले के सरकारी अस्पताल सहित सभी सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर उपलब्ध है।
जिला मलेरिया अधिकारी बीके श्रीवास्तव ने बताया कि कोरोना संक्रमण के बीच मच्छर जनित बीमारियों से बचाव को ध्यान में रखते हुए संचारी रोग नियंत्रण अभियान शुरू हुआ है। मलेरिया व मच्छर जनित अन्य बीमारियों से बचाव और लोगों को इनके प्रति जागरूक करने के लिए स्वास्थ्य विभाग हर साल यह अभियान चलाता है। जुलाई माह में बारिश होने के कारण जगह-जगह पानी इकट्ठा हो जाता है और उसमें मच्छर पनपने लगते हैं। यही मच्छर मलेरिया, डेंगू जैसी बीमारी फैलाते हैं। उन्होंने बताया अभियान के तहत 12 से 25 जुलाई तक जनपद के समस्त सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्तर पर आशा, एएनएम एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ताओँ द्वारा घर-घर हर रविवार मच्छर पर वार स्लोगन का प्रचार-प्रसार कर लोगों को जागरूक किया जाएगा। इसके साथ ही मलेरिया की जांच के लिए चयनित गांव में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने बताया ग्रामीण इलाकों में बनी स्वच्छता समितियों के माध्यम से और प्रधानों के सहयोग से लार्वारोधी छिड़काव का कार्य किया जाएगा। संचारी रोग नियंत्रण अभियान को सफल बनाने के लिए शिक्षा, बाल विकास, कृषि, पंचायती राज विभाग सहित कई विभाग को शामिल किया गया है।

 118 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *