कृषि मंत्री ने वर्चुअल माध्यम से राज्य स्तरीय खरीफ उत्पादकता गोष्ठी आयोजित की

कृषि मंत्री ने वर्चुअल माध्यम से राज्य स्तरीय खरीफ उत्पादकता गोष्ठी आयोजित की

मंत्री ने निदेशक कृषि को कृषको की आर्थिक उन्नति एवं सम्पन्नता के लिये कृषकों की आय दोगुनी करने के निर्देश दिए
मांगुर मछली जो मांसाहारी है, उसके पालन पर कड़ाई से रोक लगाये जाने के निर्देश दिये
पराली लाओ खाद ले जाओ के आधार पर भी कृषकों को प्रोत्साहित किया जाए
बुलन्दशहर।
सोमवार को कृषि मंत्री उ0प्र0 सरकार की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से राज्य स्तरीय खरीफ उत्पादकता गोष्ठी का आयोजन किया गया। वीसी में निदेशक कृषि द्वारा कृषकों की आर्थिक उन्नति एवं सम्पन्नता को सुनिश्चित कराये जाने के लिए कृषकों की आय दुगुनी किये जाने के लिए संबंध में निर्देशित किया कि खरीफ में धान का 01 प्रतिशत आच्छादन कम करते हुए इसके स्थान पर दलहनी, तिलहनी आदि फसलों को बढ़ावा दिलाया जाये। साथ ही प्रमाणित बीजों को अधिक से अधिक प्रयोग कराते हुए पैदावार को बढ़ाई जाये। हरी खाद को बोवाई के साथ अधिक से अधिक क्षेत्रफल में की जाये। कृषि उत्पादक संगठन को बढ़ावा दिया जाये। खेत तालाब योजना, जल संरक्ष्ण व भूमि संरक्षण कार्यो को कराया जाये। वीसी में डीएपी निर्धारित दरों पर बिक्री कराये जाने, उर्वरकों के स्टाक का रियल टाइम एक्नालिजमेंट किया जायें, किसी अन्य उर्वरक आदि की टैगिंग न की जाए। बीज की गुणवत्ता पर भी ध्यान दिया जाये। उद्यान विभाग में संचालित विभिन्न योजनाओं में देय अनुदान के संबंध में निर्देशित किया गया कि कृषकों को विभिन्न योजनाओं के देय अनुदान का लाभ दिलाया जाये। फसल बीमा योजना के संबंध में निर्देशित किया गया कि जो भी ऋणी कृषक कृषि बीमा नहीं कराना चाहते है ,वह बीमा की निर्धारित तिथि 31जुलाई 2021 से एक सप्ताह पहले अपनी बैंक शाखा में प्रीमियम न काटने हेतु आवेदन करें। साथ ही अवशेष कृषकों के केसीसी बनाये जाने की कार्यवाही भी सुनिश्चित की जाये। वीसी में मत्स्य विभाग की अनुदाना योजनाओं के संबंध में भी विस्तृत रूप से जानकारी दी गई। साथ ही थाई, मांगुर मछली जो मांसाहारी है उसके पालन पर कड़ाई से रोक लगाये जाने के निर्देश दिये गये। साथ ही सिंचाई विभाग व विद्युत विभागों द्वारा अपने विभागों से संबंधित व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी गई। वीसी में अवगत कराया गया कि सभी गौशालाओं में भूसे का प्रबन्ध कराया जायें। इस हेतु धनराशि को आवंटित किया जा रहा है। किसानों को पराली से खाद बनाये जाने के लिए जागरूक किया जाये तथा पराली लाओ खाद ले जाओ के आधार पर भी कृषकों को प्रोत्साहित किया जाये। समस्त निवेशन गुणवत्तायुक्त कृषकों को समय से प्राप्त हो सके ,इसके लिए समस्त व्यवस्थाओं को सुनिश्चित कराये जाने के निर्देश भी दिये गये। वीसी में कृषि मंत्री द्वारा संबोधित करते हुए कहा कि सभी अधिकारी अपने-अपने कार्यो का निवर्हन करते हुए कृषकों के हितों को कार्य करें। कोरोना काल में कृषि सेक्टर द्वारा अच्छी उपलब्धि प्राप्त की गई है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा किसानों के हितों हेतु चलायी जा रही लाभार्थीपरक योजनाओं में किसानों को लाभान्वित करने के साथ ही योजनाओं के सफल क्रियान्वयन हेतु विभागीय अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिये गये। वीसी में जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार, सीडीओ अभिषेक पाण्डेय, उप निदेशक कृषि, जिला कृषि अधिकारी सहित कृषि विभाग के अधिकारी एवं जनपद के प्रगतिशील किसान पद्यश्री श्री भारत भूषण त्यागी उपस्थित रहे।

 98 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *