किसान मजदूरों ने किसान सभा के बैनर तले मोदी सरकार का पुतला दहन किया

किसान मजदूरों ने किसान सभा के बैनर तले मोदी सरकार का पुतला दहन किया

पुलिस ने लखनऊ में सफाई कर्मचारियों पर लाठीचार्ज की कड़े शब्दों में की निंदा
पुलिस व किसानों के बीच पुतला दहन के लिये जमकर हुई खींचतान व झड़पें
बुलन्दशहर।
बुधवार को शिकारपुर तहसील क्षेत्र के गांव मामऊ में काला दिवस के रूप में दर्जनों किसान, मजदूर महिलाओं व पुरुषों ने गांव में जुलूस निकालकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर मोदी सरकार का किसान सभा के बैनर तले पुतला दहन किया। मोदी सरकार देश की कृषि समेत समस्त सार्वजनिक संस्थाओं को देशी-विदेशी कंपनियों के हवाले करने की साजिश तेज कर रही है। देश के मजदूर ,किसान इन देश विरोधी साजिशों को पहचान गए हैं, इसलिए देश भर में मजदूर ,किसान देश की सम्पदा और रोजी-रोटी की रक्षा के लिए संयुक्त रूप से आंदोलन के रास्ते पर आ गए हैं। यहीं रास्ता सरकार की राष्ट्र विरोधी ताकतें और साजिश पर लगाम कसने का काम करेगा, उक्त शब्द किसान सभा तहसील सचिव जयभगवान शर्मा ने कहे।
उन्होंने कहा कि किसान विरोधी कृषि कानूनों को रद्द किए जाने, बिजली कानून संशोधन विधेयक वापस लिए जाने ,देश के श्रम कानूनों को पूंजीपतियों के पक्ष में बदल कर लाई जा रही संहिता को रद्द कर किए जाने की मांग को लेकर किसान सभा सहित लगभग 500 संगठनों से मिलकर बने किसान संयुक्त मोर्चे के नेतृत्व में लाखों किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं। देश के सबसे जुझारू मजदूर संगठन सीआईटीयू ने किसानों की मांगों का समर्थन करते हुए मजदूरों की मांगों को लेकर 26मई ,2021 को देश भर में विरोध दिवस मनाने का आह्वान किया है। इसी के तहत देश व्यापी आह्वान पर किसान सभा द्वारा आम सभा का आयोजन किया। सभा में वक्ताओं ने केंद्र और प्रदेश सरकार की नीतियों की आलोचना करते हुए कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकारें कोरोना महामारी को शोषक वर्गों पर हथियार बनाकर किसान मजदूरों के अधिकारों पर हमले कर रही है। आम सभा की अध्यक्षता बच्चू सिंह और संचालन श्रीकृष्ण उर्फ बलम ने किया। सभा में कृपाल सिंह ,हरेंद्र सिंह ,प्रेमवीर सिंह ,नरवीर सिंह ,तरुण चौधरी, बाबा धर्मपाल सिंह ,रणवीर सिंह, प्रेमपाल सिंह ,वीरपाल सिंह ,रामबाबू डीलर ,समय सिंह, बलवीर सिंह ,रामफल सिंह, सीमा देवी ,कृष्णा देवी ,कल्पना देवी ,क्रांति देवी, केला देवी आदि महिला पुरूष उपस्थित रहे।
उधर भारतीय किसान यूनियन कार्यकर्ताओं ने बुलन्दशहर स्थित काला आम चौराहे पर केंद्र सरकार का पुतला फूंकने का प्रयास किया। इस दौरान पुलिस व किसानों के बीच जमकर खींचतान व झड़पें हुई। मौके पर तैनात पुलिस फोर्स ने किसानों के हाथ से पुतला को छीना। पुतला छीनने को लेकर किसान और पुलिसकर्मीयों मंें जोरदार झड़पें हुई। बताया जाता है कि किसान आंदोलन के पूरे छः महीने बीत जाने पर संयुक्त किसान मोर्चे के आहवान पर बुलन्दशहर में काला आम भी केन्द्र सरकार का पुतला दहन करने की कोशिश कर किसान काला दिवस मनाया।

 182 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *