किसान आंदोलन को छेड़ने की कोशिश न करें भाजपा सरकार–डीपी सिंह

किसान आंदोलन को छेड़ने की कोशिश न करें भाजपा सरकार–डीपी सिंह

शिकारपुर/बुलन्दशहर। दिल्ली पुलिस द्वारा किसान आंदोलन के मोर्चों से बेरिकेड्स हटाने की प्रक्रिया ने एक बार फिर यह सिद्ध कर दिया है कि दिल्ली के रास्तों को आंदोलनकारी किसानों ने नहीं रोका है, बल्कि मोदी सरकार ने किसानों को दिल्ली में जाने से रोकने के लिए दिल्ली के बॉर्डर सील किये थे, जिसका खामियाजा किसानों मजदूरों, व आम जनता को उठाना पड़ा। अब सुप्रीम कोर्ट के दवाब में सरकार को रास्ते खोलने पड़ रहे हैं। उक्त विचार अखिल भारतीय किसान सभा के केंद्रीय कमेटी सदस्य एवं गाजीपुर किसान मोर्चा के वरिष्ठ नेता कामरेड डीपी सिंह ने कस्बा शिकारपुर की मंडी में किसान सभा के कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार रास्ते खोलने की आड़ में भी किसान आंदोलन के खिलाफ कुत्सित चाल चलने और आंदोलन पर दवाब बनाने की कोशिश कर रही है। परंतु किसान आंदोलन सरकार की हर चाल को समझती है। ऐसी किसी भी कोशिश का मुंहतोड़ जवाब दिया जायेगा।उन्होंने कहा कि किसान पिछले 11माह से दिल्ली जाने का दिल्ली बोर्डर्स पर इंतजार कर रहे हैं, इसलिए जब भी बॉर्डर पूरी तरह हटेंगे। दिल्ली जाने का पहला अधिकार आंदोलनकारी किसानों का होगा। इस संबंध मे संयुक्त किसान मोर्चा निर्णय लेगा। किसान सभा के प्रांतीय संयुक्त सचिव चन्द्रपाल सिंह ने कार्यकर्ताओं के गांव-गांव जाकर मोदी व योगी सरकार की किसान विरोधी नीतियों का भंडाफोड़ करने व किसान आंदोलन में बड़ी तादाद में भागीदारी करने की अपील की। बैठक की अध्यक्षता मूलचंद त्यागी व संचालन जयभगवान शर्मा ने किया।

 142 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *