एलएमसी की भूमि पर कर दी प्लाटिंग, हुआ हंगामा व प्रदर्शन


औरंगाबाद/बुलन्दशहर। नगर पंचायत प्रशासन की मिली भगत से भूमाफियाओं ने एलएमसी की भूमि पर ही प्लॉटिंग कर दी। सभासद समेत दर्जनों लोगों ने मौके पर हंगामा खड़ा कर जमकर प्रदर्शन किया। ईओ ने फिलहाल काम रुकवा दिया है।
बता दें कि बुलन्दशहर-औरंगाबाद हाईवे पर श्री सर्वहितकारी इंटर कॉलेज के बराबर में प्लाटिंग की जा रही है। सभासद यामीन मेवाती, जर्रार हुसैन पोलु, असपा नेता शाकिर मेवाती दर्जनों लोगों के साथ प्लॉटिंग स्थल पर पहुँचे और वहां एलएमसी की भूमि पर निर्माण होता देख हंगामा करने लगे। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि भूमाफियाओं ने नगर पंचायत प्रशासन की मिलीभगत से एलएमसी भूमि खेत संख्या-1047 पर अवैध रूप से कब्जा कर लिया है, जिसकी कीमत करोड़ो रूपये है। ये भूमि सरकारी अभिलेखों में दर्ज है। इन भूमाफियाओं ने कॉलेज के फ्रंट पर भी कब्जा कर लिया है, जिसमें लेखपाल से लेकर कई अधिकारी तक लिप्त है। भूमि पर कब्जा करके दूसरे समुदाय के कब्रिस्तान जाने के रास्ते को जबरन रोक दिया गया है। साथ ही रास्ते पर लेंटर डालने की तैयारी की जा रही है। बाद में प्रदर्शनकारियों ने नगर पंचायत कार्यालय पहंुचकर ईओ को ज्ञापन दिया। समस्या का समाधान न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी। बाद में ईओ नवीन कुमार सिंह नपा की टीम के साथ मौके पर पहुँचे और निर्माण कार्य को रुकवा दिया, तब जाकर मामला शांत हो सका।
लेखपाल पर तय हो चुके हैं आरोप
नपा के लेखपाल ने भूमाफियाओं से साठगांठ करके एलएमसी की भूमि पर नक्शा पास कर दिया था। मामले में शिकायत हुई तो तत्कालीन ईओ मुख्तयार सिंह की देखरेख में तीन लेखपालों ने भूमि की नापतौल की। उस दौरान जांच में इंटर कॉलेज के पीछे 25 फुट चौड़ी चकरोड निकली थी। ईओ ने तारबंदी के निर्देश दिए, लेकिन तारबंदी नही हुई। मामले में उक्त लेखपाल पर कोई कार्रवाई नही हुई। अब उस चकरोड पर भूमाफिया खुलेआम कब्जा कर रहे है। नपा प्रशासन आंखे मूंदे हुए बैठा हुआ है। पूरे प्रकरण में लेखपाल पर गंभीर आरोप लगे थे।
सांसद की शिकायत पर पकड़ में आई थी एलएमसी की भूमि
पूर्व चेयरमैन और शासन से नामित सभासद राजकुमार लोधी ने सांसद डॉक्टर भोला सिंह से मिलकर उक्त भूमि की शिकायत की थी। सांसद की शिफारिश पर डीएम रविन्द्र कुमार ने प्रकरण में जांच बैठा दी थी। जांच के दौरान ही प्लाटिंग में एलएमसी भूमि पकड़ में आई थी।
मौके पर पहुँचकर निर्माण कार्य को रुकवा दिया है, साथ ही नोटिस जारी किया गया है। निर्माण कराने वालों से दस्तावेज मांगे गए है। लेखपाल की भूमिका की जांच की जा रही है, जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी -नवीन कुमार सिंह, ईओ औरंगाबाद

 398 total views,  4 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *