आईएमए सचिव डॉ0 संजीव अग्रवाल से अभद्रता पर भड़के जिले के चिकित्सक

आईएमए सचिव डॉ0 संजीव अग्रवाल से अभद्रता पर भड़के जिले के चिकित्सक

सीडीओ और ज्वाइंट मजिस्ट्रेट के खिलाफ खोला मोर्चा, 28अप्रैल को सामूहिक कार्य बंदी का किया ऐलान
बुलन्दशहर।
शनिवार को एक हॉस्पिटल के लिए ऑक्सीजन मांगने पर सीडीओ और ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने आईएमए सचिव से फोन पर ही अभ्रदता कर उनके नंबर को ही ब्लॉक करके कोविड-19 ग्रुप से रिमूव कर दिया। इस मामले में आईएमए सचिव डॉ0 संजीव अग्रवाल ने जिले के चिकित्सकों के साथ सीडीओ एवं ज्वाइंट मजिस्टेªट के खिलाफ मोर्चा खोला है और उन्होंने 28 अप्रैल को सामूहिक कार्य बंदी का ऐलान किया हैं। मीडिया को जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया कि जिला प्रशासन बुलनदशहर द्वारा कोरोना महामारी में जनपद के चिकित्सकों का समय-समय पर सहयोग नहीं किया जा रहा है, एक तरफ जहां ऑक्सीजन की भारी किल्लत हो रही है तो दूसरी तरफ रोजाना कोरोना के गंभीर मरीज निजी चिकित्सा संस्थानों में आ रहे हैं। इसी को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा ऑक्सीजन सप्लाई के लिए सीडीओ बुलन्दशहर को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया था और सचिव आईएमए को भी नोडल अधिकारी द्वारा ऑक्सीजन सप्लाई में लगाया गया था। 24अप्रैल, 2021 को एक निजी चिकित्सा संस्थान द्वारा ऑक्सीजन मांगे जाने पर सचिव आईएमए द्वारा एक सिलेंडर की डिमांड की गई तो सीडीओ बुलन्दशहर एवं ज्वाइंट मजिस्ट्रेट द्वारा मानवीय आधार पर भी ऑक्सीजन का सिलेंडर नहीं दिया गया, बल्कि उल्टे सचिव आईएमए बुलन्दशहर के साथ अभद्रता कर फोन नंबर ब्लॉक कर ग्रुप से खुद हटा दिया गया। इसी के संदर्भ में आईएमए बुलन्दशहर की एक आपातकालीन मीटिंग का आयोजन सोमवार शाम 4बजे अलका मोटेल भूड़ पर किया गया ,जिसमें सीडीओ बुलन्दशहर व ज्वाइंट मजिस्ट्रेट बुलन्दशहर के व्यवहार को निंदनीय करार दिया गया और बैठक में निम्न बिंदुओं पर चर्चा की गई, जिससे कि ऑक्सीजन की सप्लाई निर्बाध रूप से हो ताकि मरीजों की जान बचाई जा सके ,इसके लिए तत्काल रुप से ऑक्सीजन नोडल बुलन्दशहर सीडीओ व ज्वाइंट मजिस्ट्रेट को हटाकर सीएमओ बुलन्दशहर द्वारा अपने अधिकारी को नोडल बनाया जाए अन्यथा की दशा में आईएमए बुलन्दशहर के समस्त चिकित्सक 28अप्रैल, 2021 को सामूहिक कार्य बंदी करेंगे। एक तरफ जहां ऑक्सीजन की कमी से पूरा देश जूझ रहा है ,वहीं जिला प्रशासन की नाक के नीचे ऑक्सीजन की काला बाजारी की घटना सुनने में आ रही है। दूसरी तरफ सीडीओ बुलन्दशहर द्वारा नए मरीजों की भर्ती पर रोक लगाए जाने वह हायर मेडिकल सेंटर रेफर किए जाने की शिकायत भी आईएमए के चिकित्सकों ने की है। जिला प्रशासन द्वारा अपने आप समय-समय पर निधि बदलने का संज्ञान न देने पर आईएमए बुलन्दशहर से साझा नहीं किया जाता है। यह बुलन्दशहर आईएमए के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है और बैठक में यह फैसला भी लिया गया कि अगर जिला प्रशासन के इस तानाशाही, दमनात्मक व तुगलकी रवैया को भविष्य में नहीं परिवर्तित किया गया तो आईएमए बुलन्दशहर किसी भी प्रकार का सहयोग नहीं करेगा ,जिसकी सारी जिम्मेदारी उनकी स्वयं की होगी। बैठक की अध्यक्षता आईएमए बुलन्दशहर के अध्यक्ष डॉ0 वीरेंद्र कुमार के साथ सचिव डॉ0 संजीव अग्रवाल ने की, साथ में डॉ0 प्रमोद त्यागी, डॉ0 यतेंद्र शर्मा, डॉ0 अनिल चौहान, डॉ0 आशीष शर्मा, डॉ0 मानसी सचदेवा, डॉ0 अक्षय दत्ता, डॉ0 राजीव अग्रवाल, डॉ0 संजीव यादव, डॉ0 राजकुमार, डॉ0 राजेश राज, डॉ0 विशाल शर्मा, डॉ0 विजय स्वरूप शर्मा आदि रहे।

 276 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *