अनुसूचित जाति के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग करने पर कार्रवाई की मांग की

अनुसूचित जाति के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग करने पर कार्रवाई की मांग की

नई दिल्ली। पश्चिमी बंगाल में टीएमसी की महिला नेता सुजाता मंडल खान ने अनुसूचित जाति समाज के लिए अभद्र और आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग किया ,जिसे लेकर देशभर में बवाल मचा है। सुजाता खान के हिसाब से समाज में या तो कोई किस्मत से भिखारी होता है या फिर कोई परिस्थितियों से। सुजाता मंडल खान का कहना है कि ममता बनर्जी ने अनुसूचित जाति के लिए कई कार्य किए ,लेकिन उनके अभाव में कोई कमी नहीं आई। अतः पश्चिम बंगाल की अनुसूचित जाति किस्मत से भिखारी है।
भारतीय जनता पार्टी पश्चिमी जिला के अध्यक्ष सचिन भसीन के नेतृत्व में गुरूवार को एक प्रतिनिधिमंडल पश्चिमी जिला के अडिशनल डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट धर्मेंद्र कुमार से मिला और एक ज्ञापन सौंप कर टीएमसी नेता सुजाता मंडल खान के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की और जिला दंडनायक से आग्रह किया कि वे यह ज्ञापन महामहिम राष्ट्रपति को भेजकर हमें अनुग्रहित करें। ज्ञापन में न सिर्फ उन अभद्र शब्दों पर आपत्ति जताई गई, अपितु महामहिम से आग्रह किया गया है कि टीएमसी नेता सुजाता मंडल खान द्वारा जो समाज में इस तरह के घातक विचार फैलाकर बैर बढ़ाने की कोशिश की गई है, उसके लिए उन पर सख्त से सख्त कार्यवाही होनी चाहिए। इस प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश की मंत्री सुनीता कांगड़ा, पश्चिमी जिला के पूर्व जिलाध्यक्ष रमेश खन्ना, जिला महामंत्री संदीप दीक्षित, पश्चिमी जिला के एससी मोर्चा के अध्यक्ष रिंकू रिडनाल मौजूद रहे।

 350 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *